पैदल आये थे हाटकेश्वर डिजायर में चोरी करने वाले बदमाश , एक अन्य मकान के भी तोड़े थे ताले, वारदात के बाद चिंतामण मार्ग की ओर भागे

दैनिक अवन्तिका ब्रह्मास्त्र
उज्जैन। इंदौर-नागदा बायपास मार्ग पर हाटकेश्वर डिजायर कालोनी में कृषक परिवार के मकान में 18-19 दिसंबर की रात हुई चोरी की बड़ी वारदात में बदमाशों का सुराग तलाशने के लिये बुधवार को पुलिस मौके पर पहुंची थी। बदमाश पैदल आना सामने आये है और चिंतामण मार्ग की ओर भागे है। इस दौरान यह भी सामने आया कि बदमाशों ने एक अन्य मकान का भी ताला तोड़ा था, लेकिन सफल नहीं हो पाये थे। घट्टिया तहसील के ग्राम कदवाली में रहने वाले कृषक संतोष पंवार का मकान हाटकेश्वर डिजायर कालोनी में बना हुआ है। जहां मंगलवार शाम चोरी की बड़ी वारदात होना सामने आई थी। नीलगंगा पुलिस ने 3 लाख रूपये नगद और सोने-चांदी के आभूषण चोरी होने का प्रकरण दर्ज किया था। बुधवार को पुलिस बदमाशों का सुराग तलाशने के लिये कालोनी में पहुंची थी। जहां करीब 4 से 5 घंटे तक कालोनी और आसपास के क्षेत्रों में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखे गये। जिसमें सामने आया कि बदमाश चिंतामण मार्ग की ओर भागे है। बदमाशों ने कृषक के मकान का ताला तोड़ने से पहले कालोनी में रहने वाले चौहान परिवार के मकान का ताला भी तोड़ा था। लेकिन उनका मकान खाली होने पर बदमाश वारदात में सफल नहीं हो पाये थे। उसके बाद कृषक के मकान पर धावा बोला था। वारदात के बाद बदमाश कालोनी की बाउंड्रीवाल कूदकर भागना सामने आया है। एसआई चुन्नीलाल माले ने बताया कि बदमाशों का सुराग तलाशने के पूरे प्रयास किये जा रहे है। जल्द बदमाशों को गिरफ्तार किया जाएगें। कुछ फुटेज भी सामने आया है। जिससे प्रतीत हो रहा है कि बदमाश बाहरी है। कृषक बोला 10 लाख का माल हुआ चोरी कृषक संतोष पंवार ने बताया कि 18 दिसंबर की शाम उनका बेटा भोपाल चला गया था। वह पत्नी सुनीता के साथ पैतृक गांव कदवाली चला गया था। मंगलवार शाम को पडोस में रहने वाले सोनू राठौर ने ताला टूटा होने की खबर दी थी। बदमाश बेटे के कमरे में रखे 3 लाख रूपये नगद, बहू के 4 से 5 लाख के आभूषण और पत्नी के एक से डेढ़ लाख के आभूषण चुराकर ले गये है। कुल 10 लाख से अधिक की चोरी हुई है। कालोनी में लगे कैमरों से बदमाशों के फुटेज सामने आया है। जिसमें बदमाश घूमते दिखाई दे रहे वहीं उनके हाथों में हथियार भी है। बताया जा रहा है कि चौकीदार ने बदमाशों को देख लिया था, लेकिन हथियार देख डर गया था।
पूर्व में चड्डी-बनिया और कबंल गैंग आई थी कुछ साल पहले शहर में चड्डी-बनियान और गमछा-कबंल ओढे बदमाशों की गैंग आई थी। जो सूने मकानों को निशाना बना रही थी। उक्त गैंग ने भी शहर में बनी नई कालोनियों में सबसे अधिक वारदातों को अंजाम दिया था। गैंग ने पहले भी ठंड के दिनों में ही वारदातों को अंजाम दिया था। एक बार फिर बदमाशों की गैंग ने शहर का रूख किया है। हाटकेश्वर डिजायर कालोनी में कृषक के यहां हुई वारदात में भी पूर्व में आई गैंग जैसे बदमाश कैमरे में दिखाई दिये है। वारदात के बाद चार बदमाशों के फुटेज आये थे, लेकिन बुधवार को पुलिस जांच में करीब 6 बदमाश होना सामने आये है।

Author: Dainik Awantika