April 24, 2024

राजगढ़। जिले के पचोर थाना क्षेत्रांतर्गत उदनखेडी टोल के पास सडक किनारे खडे अज्ञात वाहन मे एक व्‍यक्ति का शव मिलने से क्षेत्र मे सनसनी फैल गई थी पुलिस ने लगातार प्रयास कर अंधे कत्‍ल की गुत्‍थी को सुलझा लिया। अनुविभागीय पुलिस अधिकारी सारंगपुर अ‍रविंद सिंह के निर्देशन में एवं थाना प्रभारी पचोर निरीक्षक आकांक्षा शर्मा के नेतृत्‍व में पुलिस टीम तैयार की। रात्री मे 100 डायल पर शाजापुर मक्‍सी तरफ से एक संदिग्‍ध वाहन के आने का इवेंट प्राप्‍त हुआ उदनखेडी टोल पर वैरिकेटिंग कर उक्‍त वाहन को रोकने की कोशिश की परंतु वाहन चालक ने पुलिस को देखकर भागने लगा पुलिस ने उक्‍त वाहन का पीछा भी किया मगर अंधेरे और बारिश का फायदा उठाकर शातिर अपराधी वाहन छोडकर खेतो मे भाग गये। चूंकि वाहन मे जीपीएस लगा होने से वाहन मालिक भी मौके पर पहुंच गया, वाहन की डिक्‍की खोलकर देखने पर उसमें एक व्‍यक्ति का शव मिला जिसकी पहचान वाहन मालिक अमित शर्मा ने अपने भाई अंकित शर्मा पिता कांताप्रसाद शार्मा के रूप में की जिसकी अज्ञात लोगों ने हत्याकर गाडी में छोडकर भाग गये।

महाकाल पार्किंग में हुआ था विवाद…पार्किंग में गाडी लगाकर वहां पी शराब.. 

फरियादी अमित शर्मा ने बताया कि मेरा भाई अंकित पर्सनल बुकिंग पर गाडी चलाता है , अंकित ने फोन पर बताया था कि उसके पास उज्जैन की बुकिंग है और वह 3 बजे तक वापस आ जाएगा। मेरा भाई अंकित टिफिन लेने घर आया उस वक्त दो व्यक्ति गाडी में बैठे थे गाडी में GPS लगा हुआ है रात 9 बजे करीब अंकित को फोन लगाया तो अंकित ने बताया कि अभी तो उज्जैन महाकाल पार्किंग में गाडी लगाई है। इसके बाद 11 बजे अपने मोबाइल से गाडी का GPS चैक किया तो पता चला कि गाडी मक्सी तरफ जा रही तभी अंकित को तीन चार बार फोन लगाया मगर फोन काटा गया इसके बाद फोन बंद हो गया फिर 100 नम्बर सारंगपुर को कम्पलेंट किया।

किराये की गाडी के 300 रु. का लेनदेन बना था  विवाद का कारण…

आरोपियों की तलाश करने हेतु सीसीटीव्‍ही फुटेज खंगाले गये एवं वाहन की जीपीएस लोकेशन के आधार पर विभिन्न स्‍थानों का पीएसटीएन डंप लिया गया वहीं जिले से टीमों को इंदौर, उज्‍जैन तरफ भेजा गया जिन्‍होने सीसीटीव्‍ही में उक्‍त वाहन के इंदौर एवं उज्‍जैन में होने की पुष्टि भी की वहीं तकनीकी मदद के आधार पर पुलिस टीम का एक संदिग्‍ध व्‍यक्ति के मोबाईल नंबर के बारे में जानकारी प्राप्‍त हुई जो लगातार इंदौर से उज्‍जैन शाजापुर होते हुए राजगढ की ओर आने की जानकारी प्राप्‍त हुई उक्‍त संदिग्‍ध व्‍यक्ति के बारे में तलाश करने पर संदिग्‍ध व्‍यक्ति मलावर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम चुकलिया निवासी रवि गोस्‍वामी 25 साल के घर पर दबिश देकर रवि एवं घटना में शामिल उसके भाई दीपक गोस्‍वामी 22 साल को गिरफतार किया। आरोपियों ने उक्‍त घटना को घटित करने के बारे में बताया आरोपी दीपक ने बताया कि वह और उसका भाई रवि गोस्‍वामी उनके गाडी के कागजात लेने 25 नवंबर 2023 को बस से इंदौर गये थे एवं वहां से उज्‍जैन जाने के लिये एक प्राईवेट वाहन को 2200 रूपये किराये पर लेकर उज्‍जैन महाकाल मंदिर के लिये निकले थे वाहन चालक अंकित शर्मा गाडी चला रहा था तभी रास्‍ते से शराब ले ली और तीनों ने वाहन में ही शराब पी और उज्जैन पहुच गये वहां महाकाल मंदिर के पास पार्किंग में गाडी लगाकर वहां भी शराब पी तभी वाहन चालक अंकित ने वाहन किराया 2500 रु मांगे किराये के पैसों के लेनदेन को लेकर वाहन चालक अंकित और रवि गोस्‍वामी में कहासुनी हो गई और वे आपस में मारपीट करने लगे तभी दीपक ने अंकित के दोनों हाथ पकड लिये और रवि गोस्वामी ने अंकित का गला दबा दिया और अंकित अचेत हो गया तभी आरोपियों ने गाडी में ही रखे शॉल को फाडकर उसके गले में लपेट कर उसे मार डाला और उसकी लाश को गाडी की पिछली सीट में पटक कर उसकी गाडी को उज्जैन से राजगढ की तरफ लेकर भाग गये, शाजापुर और मक्सी के बीच पहुचकर हमने अंकित की लाश को गाडी की डिक्की में डाल दिया और उसके दोनों मोबाईल को बंद कर दिया और उसके पर्स और मोबाईल को रास्ते में कहीं फेंक दिया फिर सारंगपुर से आगे आकर टोल पर पहुचे तो एक पुलिस वाले ने हमें हाथ देकर रोकना चाहा तो मैं बहुत डर गया और आरोपियों ने गाडी को बैक करके वहां से भगाकर टोल से कुछ दूर पहुंचकर गाडी को सडक के किनारे रोककर रवि और मेरा भाई दीपक वहां से भाग गये।