April 20, 2024

जयपुर राजस्थान के पाली जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक पिता ने अपनी बेटी की पहले धारदार हथियार से हत्या की. इसके बाद पेट्रोल डालकर शव जला दिया। पिता ने बेटी को पहले घर से बाइक पर बैठाया और जंगल में ले जाकर किया उसका कत्ल किया फिर पेट्रोल डालकर शव को जला दिया इसके बाद पुलिस को खबर मिली पुलिस ने मोके पर पहुचकर जांच शुरू की।

12 साल बाद आई थी बेटी घर…बाइक पर बैठाया और ले गया जंगल की और…फिर किया धार धार वार… 

पाली जिले के मारवाड़ जंक्शन क्षेत्र के सिरियारी थाना क्षेत्र के कादू गांव सरहद में एक पिता ने अपनी ही पुत्री की धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी। वही शव को पेट्रोल से जलाकर फरार हो गया। राहगीरों से अधजले शव को देखा तो क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर सिरियारी पुलिस थानाधिकारी महिपाल सिंह व आउवा पुलिस चौकी प्रभारी नरपतसिंह मय जाप्ता घटना स्थल पर पहुंचे। एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाया गया। मौका मुआयना करने के बाद शव की शिनाख्त गुड़ा दुर्जन हाल गांधीधाम निवासी निरमा (27) पत्नी रमेश मेघवाल के रूप में हुई। आरोपी ने बेटी की हत्या क्यो की इसका खुलासा तो उसके पकडे जाने के बाद ही होगा। आरोपी पिता की तलाश जारी है।

ऐसे दी हत्या की वारदात को अंजाम..

सिरियारी थानाधिकारी महिपालसिंह ने बताया कि मृतका की छोटी बहन अनीता ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसका पिता शिवलाल उसके भाई के लिए लड़की देखने का बहाना करके निरमा को साथ ले जाने लगा। इस पर छोटी बहन अनीता ने साथ चलने के लिए कहा तो वह उसकी बहन निरमा, निरमा के पुत्र व पिता के साथ बाइक पर बैठकर ईसाली से रवाना हुए। जैतपुरा चौराहे पर आरोपी पिता ने बहाना बनाकर अनीता व दोहिते को वहां उतार दिया और वापस लौटने का कहकर निरमा को साथ लेकर वापस ईसाली की तरफ बाइक लेकर निकल गया। शिवलाल ने बाइक कादू सरहद के जंगल में ले जाकर निरमा पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वही पेट्रोल से शव को जला दिया।

यहाँ मिले क़त्ल के सुराग…

घटना को अंजाम देने के बाद वापस जैतपुरा चौराहे पर लौटकर खून से सने हाथो को धोने लगा तो अनीता ने उससे पूछा की निरमा कहां तो आरोपी सकपका गया और वहां से बाइक लेकर फरार हो गया। पुलिस ने निरमा की रिपोर्ट के आधार पर पिता शिवलाल के खिलाफ मामला दर्ज किया तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए जोजावर मोर्चरी में रखवाकर आरोपी की तलाश शुरू की।

रिपोर्ट विकास त्रिवेदी