एक तीर से दो निशाने: पकड़े चोरी के आरोपी..ऊगली कैफे में आग लगानी की भी वारदात.. सफलता में एक और कामयाबी

उज्जैन।  नागझरी थाना क्षेत्र के त्रिवेणी विहार में 11 नवंबर को दिनदहाड़े गिरीश वर्मा के मकान का ताला तोड़कर अज्ञात बदमाशों ने उसे वक्त चोरी को अंजाम दिया था जब गिरीश वर्मा परिवार के साथ महानंदा नगर में रहने वाले अपने पिता के घर गया था। कुछ घंटे बाद लौटने पर वारदात का पता चला था। पुलिस ने मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू की और 14 दिन बाद शनिवार को मोहन नगर में रहने वाले कहना उर्फ कन्हैया पिता शांतिलाल डोडिया 23 वर्ष और धीरज उर्फ धीरू पिता गजेंद्र ठाकुर 26 वर्ष निवासी गांधीनगर को गिरफ्तार किया। पूछताछ में दोनों ने चोरी की वारदात करना कबूल कर लिया। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर ढाई लाख कीमत के आभूषण, 3,500 रुपए नगद, वारदात में प्रयुक्त एक्टिवा और दो मोबाइल फोन के साथ लोहे की टामी बरामद की है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गुरु प्रसाद पाराशर ने बताया कि दोनों बदमाशों के खिलाफ पूर्व में भी अपराध दर्ज हैं। त्रिवेणी विहार में हुई चोरी की वारदात का मुख्य सरगना धीरज उर्फ धीरू है। दोनों पॉश कॉलोनी में रेकी करते थे और सुना मकान दिखाई देते ही ताला तोड़कर वारदात को अंजाम देते थे। एक बदमाश घर के बाहर पहरा देता था दूसरा अंदर जाकर कीमती सामान की तलाश करता था। वारदात के बाद बदमाश शहर छोड़ देते थे और कुछ दिन बाद वापस लौट आते थे।

सफलता में एक और कामयाबी….पूछ ताज में ऊगली एक और वारदात ..

दिनदहाड़े चोरी की वारदात करने वाले दोनों बदमाशों ने दीपावली की रात अपने दो साथी रोहित खन्ना निवासी शिव शक्ति नगर और एक नाबालिक के साथ मिलकर दीपावली की रात चिमनगंज थाना क्षेत्र के खाक चौक पर एक कैफे में पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी चोरी की वारदात के साथ आगजनी का खुलासा होने पर दोनों बदमाशों के साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। चिमनगंज पुलिस ने आगजनी के मामले में अज्ञात युवकों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था पूछताछ में सामने आया कि रोहित के भाई का झगड़ा कैफे संचालक से हुआ था जिसके चलते रात में आगजनी को अंजाम दिया गया था।

रिपोर्ट विकास त्रिवेदी 

Author: Dainik Awantika