दरवाजा खोला तो मां के दुपट्टे से लटका मिला पुत्र -कक्षा 10 वीं का था छात्र, रील बनाने का था शौक

दैनिक अवंतिका(उज्जैन) एमआर का काम करने वाले मां देर शाम घर पहुंची तो दरवाजे पर लगा जाली वाला दरवाजा बंद था, आवाज लगाने पर पुत्र ने नहीं खोला। जैसे-तैसे दरवाजा खोल मां अंदर पहुंची तो पुत्र दुपट्टे के फंदे से पंखे पर लटका हुआ था। पुलिस मामला जांच में लिया है। नागझिरी थाना टीआई केएस गेहलोत ने बताया कि बीती शाम देवासरोड डिवाइन सिटी में रहने वाले प्रियांशु पिता राजेन्द्रसिह 16 वर्ष ने अपनी मां के दुपट्टे से फांसी लगा ली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंच शव बरामद किया और पोस्टमार्टम के लिये जिला अस्पताल पहुंचाया। परिजनों से पूछताछ करने पर सामने आया कि मां प्रिती एमआर है, पति से तलाक होने के बाद वह बेटे के साथ अकेली रहती थी। प्रियांशु कक्षा 10 वीं का छात्र था और क्षिप्रा विहार में कोचिंग जाता था। जहां से प्रतिदिन मां उसे लेकर लौटती थी। लेकिन प्रियांशु कोचिंग नहीं गया था। जब मां घर लौटी तो घटना का पता चला। मोबाइल पर बनाता था रील परिजनों ने बताया कि प्रियांशु को मोबाइल पर रील बनाने का काफी शौक था। उसके सोशल मीडिया पर 14 हजार से अधिक फलोअर है। वह पढ़ाई के साथ सोशल मीडिया पर एक्टिव रहता था। घर में किसी तरह की परेशानी नहीं थी। सबकुछ अच्छा था। टीआई गेहलोत के अनुसार छात्र के फांसी लगाने का कारण सामने नहीं आया है, ना ही कोई सुसाइड नोट मिला है। उसका मोबाइल जांच में लिया गया है। मां और उसके दोस्तों के बयान दर्ज किये जाएगें।

Author: Dainik Awantika