पहले सीने पर मारे चाकू, फिर खुद का काट लिया गला -घायल 2 दिनों जिला अस्पताल में था भर्ती, हालत गंभीर

दैनिक अवन्तिका(उज्जैन) जिला अस्पताल के सी वार्ड में रविवार शाम उस वक्त अफरा-तफरी मच गई। जब उपचार के लिये भर्ती युवक ने पहले अपने सीने पर चाकू मारे और बाद में गला काट लिया। अस्पताल कर्मियों ने पकड़ा और उपचार के लिये ऑपरेशन थियेटर लेकर पहुंचे। छोटी मायापुरी के पास गोकुलनगर में रहने वाला विशाल पिता दशरथ राठौर 32 वर्ष की तबीयत खराब होने पर परिजनों ने उसे शुक्रवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। रविवार को हालत में सुधार होने पर दोपहर में मां उसे अकेला छोड़कर घर चली गई थी। शाम विशाल पलंग से उठा और कुछ दूर वार्ड में घूमने के बाद उसने सब्जी काटने वाले चाकू से खुद के सीने पर वार करना शुरू कर दिया। वार्ड में भर्ती मरीज और उनके परिजन युवक को खुद पर वार करता देख सहम गये। कुछ लोगों ने उसे रोकने का प्रयास किया लेकिन विशाल ने चाकू से खुद का गला भी रेत लिया। खून से लथपथ होने पर उसे अस्पताल कर्मियों ने पकड़ा और उपचार के लिये ऑपरेशन थियेटर लेकर पहुंचे। जहां उसकी हालत गंभीर होना बताई जा रही थी। इधर उपचार पर्चे पर लिये मोबाइल नम्बर के आधार पर इमरजेंसी कक्ष से परिजनों और कोतवाली पुलिस को सूचना दी गई। एसआई सलमान कुरैशी अस्पताल पहुंचे। लेकिन घायल बयान देने की हालत में नहीं था। मां बोली 3 साल से कर रहा है नशा विशाल के गला काटने की खबर मिलते ही मां जिला अस्पताल पहुंच गई थी। जिसका कहना था कि एकलौता पुत्र है। शादी हो चुकी थी, तीन साल पहले पत्नी की बीमारी से मौत हो गई। 2 बच्चे है, पत्नी की मौत के बाद से नशा करने लगा था। हर वक्त मरने की बात करता रहता है। 2 दिन पहले तबीयत खराब होने पर भर्ती किया था। विशाल निजी अस्पताल की लेब में काम करता था। कुछ महिनों से काम पर भी नहीं जा रहा है। मरने की करता रहा बात ऑपरेशन थियेटर में उसे सर्जरी के लिये ले जाया गया था। जहां गले में टांके लगाये गये है। वह ओटी टेबल पर भी झटपटाता रहा और कहता रहा कि मर जाऊंगा। अभी तो बचा लिया, फिर चाकू मार लूंगा। वार्ड में भर्ती करने के दौरान परिजन उसकी निगरानी कर रहे थे।

Author: Dainik Awantika