नगर निगम व जिला प्रशासन की आमजन से अपील

पर्यावरण बचाने के लिए 22 सितंबर को कार न चलाएं, लोक परिवहन अपनाएं

इंदौर। पर्यावरण संरक्षण के लिए 22 सितंबर को नो-कार डे मनाया जाएगा। नगर निगम और जिला प्रशासन ने हर वर्ग से अपील है कि वे एक दिन चार पहिया वाहन का उपयोग नहीं करें। सोमवार को महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने इसे लेकर सिटी बस ऑफिस में बैठक की। उन्होंने कहा- चार पहिया वाहन के स्थान पर लाेक परिवहन, बस, साइकिल व बाइक का उपयोग कर अभियान को सफल बनाएं।
स्वच्छता में नंबर वन होने के साथ वायु गुणवत्ता में भी इंदौर ने पहली रैंकिंग हासिल की है। इसलिए जरूरी है कि हम सब पर्यावरण संरक्षण पर जोर दें। बैठक में अपर आयुक्त मनोज पाठक, अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा, प्रताप नायर मौजूद थे। महापौर ने एआईसीटीएसएल के माय बाइक और चलो एप की जानकारी ली। अफसरों से इसे लेकर चर्चा की कि शहर में लोक परिवहन के माध्यम से किन-किन रूट से कितनी बसों का संचालन होता है।

प्रचार-प्रसार करेंगे

बीआरटीएस, सी 21, मल्हार मेगा, टीआई सहित अन्य मॉल व सार्वजनिक स्थानों पर नो-कार डे को लेकर प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

इंदौरियों के नाम पाती…

वैश्विक स्तर पर वर्ल्ड कार फ्री डे मनाया जाता है। इसी क्रम में इंदौर में भी नो-कार डे अभियान चलाया जाना है। मेरा आपसे अनुरोध है कि इस एक दिन आप और हम सभी चार पहिया वाहनों के स्थान पर दो-पहिया वाहन, साइकिल या लोक परिवहन का उपयोग करें। यह कदम इंदौर के पर्यावरण सुधार में सहयोगी साबित होगा।

You may have missed