कोर्ट परिसर से भागी नाबालिग10 दिन बाद फिर लौटीपुलिस ने उसे अपनी कस्टडी में लेकर वन स्टॉप सेंटर भेजा है। आज नाबालिग की काउंसिलिंग कराई जायेगी।

उज्जैन। कोर्ट परिसर से भागी नाबालिग 10 दिन बाद शनिवार को फिर लौट आई। पुलिस ने उसे अपनी कस्टडी में लेकर वन स्टॉप सेंटर भेजा है। आज नाबालिग की काउंसिलिंग कराई जायेगी। गौरतलब हो कि 26 अगस्त को पंवासा क्षेत्र की रहने वाली न 17 वर्षीय नाबालिग घर से लापता हो गई थी। परिजनों ने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। 2 सितंबर को नाबालिग वापस अपने घर लौट आई थी। पुलिस का पता चलने पर उसे 5 सितंबर को थाने लाया गया था और कोर्ट में 164 के बयान दर्ज करने के लिये महिला आरक्षक लेकर पहुंची थी। लेकिन नाबालिग महिला आरक्षक को चकमा देकर कोर्ट परिसर से भाग निकली थी। जिसके बाद पंवासा थाने पर हडकंप मच गया था। नाबालिग के कोर्ट परिसर से भागने पर प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की गई थी। इस बीच शनिवार को नाबालिग फिर से लौट आई। परिजनों को सूचना पर पुलिस ने महिला अधिकारी की टीम के साथ नाबालिग को दोबारा से कस्टडी में लिया और पूछताछ शुरू की, नाबालिग का कहना था कि माता-पिता शादी करना चाहते है, उसे शादी नहीं करना है, वह माता-पिता के साथ नहीं रहना चाहती। मामले में थाना प्रभारी करण खोवाल ने बताया कि नाबालिग को वन स्टॉप सेंटर भेजा गया है। रविवार को महिला चाईल्ड लाइन और वन स्टॉप सेंटर के अधिकारियों से काउंसिलिंग कराई जाएगी। जिसके बाद कोर्ट में बयान दर्ज कराये जाएगें। बताया जा रहा है कि नाबालिग पूर्व में भी 3 से 4 बार घर से भाग चुकी है, जिसक पुलिस ने दस्तयाब कर परिजनों को सौंपा था।

You may have missed