गणेश जी और दुर्गा जी की मिट्टी की प्रतिमाएं ही स्थापित करने का आग्रह

उज्जैन ।  पर्यावरण संरक्षण समिति तथा उज्जयिनी विद्वत परिषद् ने नागरिक वर्ग से अनुरोध किया है कि आगामी गणेश उत्सव एवं नवरात्रि में मिट्टी से बनी प्रतिमाओं की स्थापना ही घरों एवं सार्वजनिक मंडपों में की जाए ।समिति के अध्यक्ष डॉ विमल गर्ग तथा विद्वत् परिषद की डॉ प्रतिमा जोशी ने संभागायुक्त को लिखे ज्ञापन में बताया कि प्लास्टर आॅफ पेरिस से बनी छोटी मूर्तियां भी 5 वर्षों तक पानी तथा धूप में नहीं गलतीं । शास्त्रों में भी पार्थिव मूर्तियों की स्थापना का मत दिया गया है और पार्थिव मूर्ति मिट्टी से निर्मित होती है। प्लास्टर आॅफ पेरिस में तमाम केमिकल और हानिकारक पदार्थ होते हैं जो नदी, कुओं तथा तालाबों में घुलकर सूक्ष्म जीव-जंतुओं तथा जल की गुणवत्ता पर प्रभाव डालते हैं। उन्होंने अनुरोध किया कि दोनों पर्वों पर मिट्टी की प्रतिमा स्थापित करने से हमारे पर्वों की शुद्धता भी बनी रहेगी।

You may have missed