कांग्रेस पार्षद माया त्रिवेदी पर दर्ज हुई एफआईआर

उज्जैन। डेढ़ माह पहले सावन माह में कावड़ यात्रियों के साथ कांग्रेस पार्षद माया राजेश त्रिवेदी महाकाल मंदिर पहुंची थी और बाबा का जलाभिषेक करने की बात कहीं थी। मंदिर समिति ने जलाभिषेक से रोक दिया था। कांग्रेस पार्षद ने महिलाओं के साथ मंदिर परिसर में ही धरना दे दिया था। घटनाक्रम के बाद मंदिर समिति ने जांच के लिये जांच समिति गठिक कर दी थी। जांच के बाद मंदिर समिति की ओर से कांग्रेस पार्षद के खिलाफ महाकाल थाने में शासकीय कार्य में बाधा का प्रकरण दर्ज करा दिया।
गौरतलब है कि श्रावण अधिकमास में पार्षद माया राजेश त्रिवेदी मित्रमंडल द्वारा 25 जुलाई से चार दिवसीय चौरासी महादेव, सप्त सागर व नौ नारायण यात्रा का आयोजन किया गया था। 28 जुलाई को शिप्रा तट से महाकाल मंदिर तक कावड़ यात्रा निकाली गई थी। यात्रा में हजारों महिलाएं शामिल थी। जो महाकाल मंदिर बाबा का जलाभिषेक करने पहुंची थी। उन्होने अनुमति मांगी, लेकिन जलाभिषेक की अनुमति नहीं दी गई और प्रवेश से रोक दिया। जिस पर कांग्रेस पार्षद माया त्रिवेदी ने मंदिर में ही धरना दे दिया था। गतिरोध बढ़ता देख मंदिर प्रशासक ने सभी को दर्शन के बाद मामले को शांत कर दिया था। वहीं मंदिर के अंदर हुई घटना को लेकर तीन सदस्यीय जांच समिति गठित कर दी थी। डेढ़ माह बाद मंदिर समिति की ओर हंगामा करने पर गुरूवार-शुक्रवार रात कांग्रेस पार्षद के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने का प्रकरण दर्ज करा दिया। महाकाल थाना प्रभारी अजय वर्मा ने बताया कि महाकाल मंदिर की ओर से शिकायत दर्ज करने का आवेदन दिया गया था। जिसके बाद धारा 353 और 186 का प्रकरण दर्ज कर जांच मे लिया गया है।

You may have missed