आलोट से संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार रतलाम पुलिस ने एनआईए को सौंपा

आईएसआईएस का झंडा, कुछ सिम कार्ड तथा चाकू मिला,आतंकी फैजान के संपर्क में था राहुल सेन

आलोट। पुलिस ने आलोट थाना क्षेत्र के ग्राम खजूरी देवड़ा में दबिश देकर संदिग्ध आतंकी राहुल पिता बाबूलाल सेन उम्र 23 साल निवासी खजूरी देवड़ा जिला रतलाम को गिरफ्तार कर एनआईए को सौंप दिया है। संदिग्ध आतंकी राहुल सेन के पास से पुलिस को कुछ सिम कार्ड, एक काला कपड़ा ( आईएसआईएस ) का झंडा और एक चाकू मिला है। रतलाम पुलिस द्वारा गिरफ्तार संयुक्त आतंकी को ट्रांजिट रिमांड लेने में मदद कर विधिवत एनआईए की टीम के सुपुर्द किया गया।
गौरतलब है कि एनआईए रांची द्वारा अवैधानिक गतिविधियों में लिप्त फहजान अंसारी नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था। जिससे पूछताछ करने पर रतलाम जिले के व्यक्ति से सोशल मीडिया के माध्यम से कनेक्शन मिलने पर एनआईए रांची द्वारा रतलाम पुलिस से संपर्क किया गया। पुलिस अधीक्षक रतलाम राहुल कुमार लोढा द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतलाम राकेश कुमार खाखा के मार्गदर्शन में एनआईए, एटीएस, एवं थाना आलोट की संयुक्त टीम का गठन कर त्वरित कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया था।
पुलिस ने आलोट के न्यायालय में राहुल को पेश किया ,जहां से अग्रिम ट्रांजिट रिमांड के लिए रांची ले जाया जा रहा है।

रांची मे ISIS के लिए काम करने वाले फैजान के संपर्क मे था राहुल सेन

कुछ दिन पूर्वएनआईए ने फैजान अंसारी के पास से कई डिजिटल सबूत जब्त किए हैं। सूत्रों के मुताबिक फैजान अंसारी डार्क नेट के माध्यम से आईएसआईएस आतंकियों के संपर्क में था। जानकारी के अनुसार लोहरदगा में युवाओं का ब्रेन वाश कर दहशत फैलाने की ट्रेनिंग दे रहा था। कई युवाओं को आईएसआईएस में शामिल करने के लिए राजी कर लिया था।फैजान की गिरफ्तारी के बाद व पूछताछ व सोशल मीडिया के माध्यम से राहुल भी फैजान से चैट कर रहा था।

You may have missed