हाकाल के गर्भगृह में आम प्रवेश  कब से शुरू ये आज तय करेंगे कलेक्टर की अध्यक्षता में प्रबंध समिति की बैठक होगी, 

दैनिक अवंतिका उज्जैन। 

श्रावण व अधिकमास के साथ महाकाल की सवारियां निकलने के बाद महाकाल के गर्भगृह में आम प्रवेश कब से शुरू होगा इसे लेकर संभवत: मंदिर प्रबंध समिति की गुरुवार को कलेक्टर की अध्यक्षता में बैठक होगी। बैठक शाम 6 बजे रखी गई जिसमें मंदिर से जुड़े अन्य प्रमुख विषयों पर भी चर्चा की जाएगी। अभी महाकाल मंदिर के गर्भगृह में आम लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित है। श्रावण व अधिकमास के चलते समिति ने प्रवेश बंद कर दिया था। दो माह से बाहर से ही दर्शन हो रहे थे। मंदिर प्रबंध समिति की 25 जून को हुई बैठक में 4 जुलाई से 11 सितंबर तक गर्भगृह में प्रवेश का निर्णय लिया गया था। श्रावण व अधिकमास खत्म, शाही सवारी भी निकल गई, भीड़ कमश्रावण मास व अधिकमास खत्म हो गया। सभी सवारियों के साथ महाकाल की शाही सवारी भी निकल गई। इसको ध्या में रखते हुए ही 14 सितंबर की शाम 6 बजे महाकाल लोक के कंट्रोल रूम में मदिर प्रबंध समिति की बैठक रखी गई जिसमें गर्भगृह में प्रवेश कब से प्रारंभ किया जाए इस पर चर्चा के बाद निर्णय लिया जाएगा। बैठक में यह भी तय होगा कि गर्भगृह में केवल 750 रूपए की रसीद पर प्रवेश दिया जाए या सामान्यजनों का भी पूर्व की तरह प्रवेश भी शुरू किया जाए। महाकाल मंदिर में 100 फीट ऊंचा त्रिशूल लगेगा जो दूर से ही दिखेगाप्रबंध समिति मंदिर में 100 फीट ऊंचा एक त्रिशूल भी लगाने पर विचार कर रही है। इस पर भी बैठक में प्रस्ताव रखा जाएगा। यह त्रिशूल ऐसा होगा कि मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को चार-पांच किलो मीटर दूर से ही दिखाई दे। महाकाल के भक्त निवास का भूमि पूजन  20 सितंबर को हो सकता है महाकाल मंदिर प्रबंध समिति द्वारा निर्मित होने वाले भक्त निवास का भूमि पूजन और नव निर्मित निशुल्क अन्नक्षेत्र का लोकार्पण संभवत 20 सितंबर को किया जा सकता है। इसका लोकार्पण केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में हो सकता है। शाह का 20 सितंबर को उज्जैन आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है। 

You may have missed