सुसनेर : बज बारस पर महिलाओं ने की गाय एवं उसके बछड़े की पूजा

सुसनेर ।  बज बारस पर महिलाओं ने गाय एवं उसके बछड़े की पूजा कर अपने पुत्र की लंबी उम्र की कामना की। इस दिन परिवार में सब्जी नहीं काटी जाती है। मक्का की रोटी गाय को खिलाई। महिलाओं ने भी मक्का की रोटी के व्यंजन बनाकर खाई। सुसनेर सहित क्षेत्र में महिलाओं ने गाय बछड़े की पूजा कर बज बारस का पर्व मनाया। महिलाओं ने बताया कि बज-बारस पर महिलाएं गाय और बछड़े की पूजा करके अपने बच्चों की लंबी उम्र अच्छे स्वास्थ्य की कामना करती हैं। महिलाएं इस दिन मक्का व ज्वार से बने आटे की रोटी व अन्य चीजें खाती हैं। गेहूं व अन्य चीजों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। महिलाएं व्रत रखती हैं व कहानी सुनकर व्रत खोलती हैं। हर साल भाद्रपद कृष्ण द्वादशी पर यह पर्व मनाया जाता है।
इस पर्व के दौरान महिलाओं ने पुत्र की लंबी उम्र की कामना के लिए पूजा करती है।

You may have missed