April 16, 2024

 

 

ब्रह्मास्त्र भोपाल

एमपी की राजधानी भोपाल में सीएम शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में बैठक हुई। जिसमें कई अहम फैसलों को मंजूरी दी गई है। जिसके अब पुलिस कर्मियों को हर माह 15 लीटर पेट्रोल, पौष्टिक आहार के लिए एक हजार रुपए, किट क्लोजिंग भत्ते को 2500-3000 से बढ़ाकर 5000 रुपए प्रतिमाह किया गया है। इसके अलावा तीन वर्ष में नई वर्दी के लिए 500 की जगह अब 2500 रुपए दिए जाएंगे।
कैबिनेट की बैठक में हुए निर्णयों की जानकारी देते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि कानून व्यवस्था में लगे पुलिस कर्मियों को मिलने वाले नि:शुल्क भोजन की दर 70 रुपए से बढ़ाकर 100 रुपए प्रतिदिन की गई हैं। इस निर्णय का लाभ अब एसएएफ आरक्षक से लेकर निरीक्षक तक के स्तर पर ड्यूटी कर रहे हैं सभी कर्मचारियों को मिलेगा। इसी तरह इंडियन नर्सिंग काउंसिल के मापदंडों के अनुसार सभी नर्सिंग कॉलेजों में 305 नए पदों को सृजित करने का निर्णय लिया गया है, अब तक केवल 28 पद थे।

जबलपुर के बघराजी सहित सात नए कालेज खोलने मंजूरी- एमपी में 7 नए कालेजों की स्वीकृति दी गई है। इनमें कोठी जिला सतना, बेहट जिला ग्वालियर, बघराजी जिला जबलपुर, शाहपुर जिला सागर, ए खोरा जिला पन्ना, कम्पेल जिला इंदौर, ए बसई जिला दतिया में नए सरकारी कॉलेज खुलेंगे।

नक्सलियों को मुख्यधारा में जोड़ने नई पालिसी- छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश की तरह अब मध्यप्रदेश सरकार ने नक्सलियों को मुख्यधारा में जोड़ने के लिए नई पालिसी बनाई है। यदि कोई व्यक्ति नक्सली गतिविधि में गुमराह हो गया है और वह मुख्यधारा से जुड़ना चाहता है तो सरकार उसकी पूरी मदद करेगी। कोई नक्सली आत्म समर्पण करता है तो उसे घर बनाने डेढ़ लाख रुपए दिए जाएगें। हथियार सरेंडर करता है तो 10 से 40 हजार रुपए, विवाह के लिए 50 हजार रुपए दिए जाएगें। तत्कालिक आवश्यकता पूर्ति के लिए 5 लाख रुपए या पुलिस द्वारा उसपर जो राशि घोषित की गई उसे दे दी जाएगी। अचल संपत्ति के लिए 20 लाख रुपए, व्यवसायिक प्रशिक्षण के लिए डेढ़ लाख रुपए दिए जाएंगे। इसी तरह आत्म समर्पण करने वालों को आयुष्मान भारत योजना सहित खाद्यान्न योजना का भी लाभ मिलेगा।

एनकाउंटर कराने पर मिलेगी पुलिस आरक्षक की नौकरी-
इसी तरह यदि कोई नक्सली आत्म समर्पण करता है, वह किसी दूसरे नक्सली का एनकाउंटर कराताहै तो ऐसे युवक्त आरक्षक के पद पर नौकरी दी जाएगी। नक्सली गतिविधि में किसी आम व्यक्ति की मौत होने पर परिवार को 15 लाख रुपए आर्थिक सहायता व सरकारी नौकरी दी जाएगी। सुरक्षा कर्मी के परिजन को 20 लाख रुपए, शारीरिक अक्षमता पर 4 लाख रुपए की सहायता देने का प्रावधान भी इस पॉलिसी में किया गया है।

एक जुलाई को पेंशनर्स को मिलेगा बढ़ा हुआ मंहगाई भत्ता-
कैबिनेट की बैठक में पेंशनर्स व उनके परिजनों को मंहगाई भत्ते में बढ़ोत्तरी करने के मामले में भी मुहर लगी है। इसमें एमपी के पेंशनर्स व उनके परिजनों को एक जुलाई 2023 से महंगाई राहत की दर में वृद्धि की गई है। जो पेंशनर सातवें वेतनमान वाले हैं उनको 42 प्रतिशत व जो छठवें वेतनमान वाले हैं। उनको 221 प्रतिशत की बढ़ोतरी करते हुए इसका लाभ देने का फैसला लिया गया है। महंगाई राहत वृद्धि से लगभग सरकार के खजाने में 410 करोड रुपए का अतिरिक्त भार संभावित है।