April 20, 2024

टोंक खुर्द। स्वच्छ भारत मिशन के तहत नगर परिषद टोंक खुर्द में तहसील कार्यालय के पास और ईदगाह के पास सरकार ने लाखों रुपए खर्च कर सामुदायिक स्वच्छता परिसर का निर्माण किया है।जिसमे ज्यादातर समय में ताला लगा रहता है। जिसके कारण सैकड़ों लोग खुले में शौच जाने को विवश है और स्वच्छता अभियान को लेकर जिम्मेदार लापरवाह हैं।जानकारी के अनुसार नगर के दोनो स्वच्छता परिसर मात्र दिखावा बन कर रह गए है। स्वच्छता परिसर में स्वच्छता परिसर खुलने का समय सुबह 6 से रात्रि 10 बजे तक का समय लिखा हुआ है लेकिन स्वच्छता परिसर समय सारिणी के अनुसार बंद चालू नही किया जाता है।स्वच्छता परिसर में नियुक्त कर्मचारी का जब इच्छा हो परिसर को खोल देता है और बंद कर देता है। स्थानीय लोगों को यह मालूम ही नही है कि शौचालय आखिर बंद क्यों है। स्वच्छता अभियान पर जोर देते हुए शासन ने नगर और ग्राम स्तर को खुले में शौच मुक्त करने के लिए घर-घर शौचालय निर्माण, सार्वजनिक सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कराया गया है, लेकिन इसका उपयोग नहीं हो पा रहा है। इस हकीकत की पोल नगर के दो स्वच्छता परिसर को देखने को मिल जाएगी। स्वच्छता परिसर में ताले लटके होने से आमजन इनका उपयोग नहीं कर पा रहे है। संबंधित अधिकारी और जवाबदार लोग इस ओर ध्यान नहीं दे रहे है। जिसके कारण ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्वच्छता परिसर का प्राथमिकता से लाभ नहीं मिल पा रहा है। जिसके कारण ग्रामीणों को खुले में शौच जाने मजबूर है।
इनका कहना है
मोटर जलने के कारण पानी की व्यवस्था बंद है,जल्दी ही दोनो स्वच्छता परिसर की व्यवस्था में सुधार किया जाएगा।
विनोद कुमार साहू
प्रभारी सीएमओ नप टोंक खुर्द