April 19, 2024

इंदौर | प्रदेश के सभी राजस्व अधिकारियों ने अपनी मांगों को लेकर शासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अधिकारियों ने कई मांगे की है इनमें राजस्व अधिकारियों की पदोन्नति, नायब तहसीलदार पद को राजपत्रित घोषित करने और राजस्व अधिकारियों की वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग प्रमुख है। इन मांगों को लेकर प्रांतीय संघ ने अनेकों निवेदन पत्र शासन के समक्ष प्रस्तुत किए, लेकिन आज तक इन पर कोई विचार नहीं किया गया, जिससे सभी व्यथित और हताश है। 15 मार्च को हुई प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक में सभी ने निर्णय लिया कि प्रदेश के सभी राजस्व अधिकारी तहसीलदार व नायब तहसीलदार 20 मार्च से तीन दिन के लिए सामूहिक अवकाश पर रहते हुए सभी पदीय कर्तव्य से विरत रहेंगे। तीन दिन के अवकाश की यह घोषणा इंदौर में भी की गई है। अवकाश के दौरान सभी ने अपने कार्यालय के डिजिटल साइन, वापस ले लिये है और शासकीय वाहन भी वापस कर दिए है। इसके साथ सभी प्रशासकीय वॉट्सअप गु्रप से पृथक रहेंगे। इसी को लेकर सभी तहसीलदार और नायब तहसीलदार ने हस्ताक्षर किया हुआ पत्र मध्यप्रदेश राजस्व अधिकारी को सौंपा है। बहरहाल अब देखना होगा कि उनकी मांग पर आगे क्या विचार होता है।

बाइट….बजरंग बहादुर सिंह, तहसीलदार