मोबाइल ब्लास्ट मामले में अब होगा बड़ा खुलासा हत्या के एंगल पर भी जांच कर रही पुलिस

उज्जैन के बड़नगर में सोमवार को हुई
दिलदहला देने वाली घटना में बुजुर्ग मौत हो
गई थी। मोबाइल फटने से बुजुर्ग के चीथड़े
उड़ने की बात सामने आई थी। घटना के
बाद रतलाम फोरेंसिक की टीम घटना स्थल पर पहुंची, तो पता चला
मोबाइल की बैटरी में तो विस्फोट हुआ ही नहीं। उसमें सिर्फ लीकेज था। अब पुलिस इस पूरी घटना को संदिग्ध मानकर चल रही है। बुजुर्ग की मौत के मामले में हत्या के एंगल पर भी जांच कर रही है।
दरअसल थाना बड़नगर क्षेत्र में रुनिजा मार्ग समीप खेत पर एक कमरे में रहने वाले 60 वर्षीय बुजुर्ग दयाराम बारोड़ घर में मृत मिले थे। दोपहर जब बुजुर्ग का दोस्त उनके घर
पहुंचा तो उसके होश उड़ गए। कमरे में चारो और खून पड़ा और बुजुर्ग के शव के चीथड़े उड़ गए थे। घटना के बाद आसपास क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। पुलिस ने शुरआती जांच में पाया कि बुजुर्ग की मौत मोबाइल फटने से हुई है। लेकिन बुजुर्ग
के शरीर के जिस तरह हालत हुई थी इसके
अन्य कारण सामने आ सकता है। रतलाम
एफएसएल की टीम घटना की जांच करने
पहुंची, तो उन्हें मोबाइल की बैटरी में लीकेज मिला, लेकिन विस्फोट होने जैसी बात सामने नहीं आई है। अब पुलिस घटना की जांच हत्या वाले एंगल से भी कर रही है। दरअसल, बुजुर्ग घर में दोनों बेटों से अलग रहता था। एसपी सतेंद्र कुमार शुक्ला ने बताया की फोरेंसिक रिपोर्ट और अन्य तरह की जांच की जा रही है। जल्द ही रिजल्ट सामने होंगे।

You may have missed