April 19, 2024

इंदौर में अचानक मौत के 10,ग्वालियर में 5 और उज्जैन में 4 मामले सामने आए

इंदौर। ठिठुरन भरी ठंड के बीच हार्ट अटैक से मौत के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इनमें भी खासकर साइलेंट कार्डियक अरेस्ट से मृत्यु हो रही है। इंदौर में 60 घंटे के अंदर 10 मेडिकल केस मौत के आए हैं। इसके पहले ग्वालियर में एक ही दिन में 5 मौत इसी तरह हुई थी। उज्जैन में भिक्षावृत्ति करने वाले 3 लोग रात में सोए और सुबह उठे ही नहीं। एक अन्य वृद्ध की मौत अस्पताल में हुई।
इंदौर में 32 वर्षीय युवक की साइलेंट कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई। 60 घंटे में अचानक मौत के 10 केस सामने आए हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे मामलों में मेडिकल-लीगल केस नहीं होने की वजह से पोस्टमॉर्टम या अन्य जांच नहीं हो पाती, इस वजह से मौत का वास्तविक कारण सामने नहीं आ पाता।

बुधवार को सरोज जैन (75) गुमाश्ता नगर, पंकज सुराणा (45) गुमाश्ता नगर, कृष्णादेवी निहलानी (70) खातीवाला टैंक व लखन छाबड़ा (50) निवासी पलसीकर कॉलोनी की कार्डियक अरेस्ट से मौत हुई है। गुरुवार को कौशल्या देवी बजाज (72) निवासी आनंदा, बिजलपुर की भी मौत हो गई।
शुक्रवार सुबह ऋषि नवलानी (23) निवासी साईंकृपा नगर, उमेश रहेजा (32) ट्रेजर फैंटेसी व दर्शना जैन (55) की भी मौत कार्डियक अरेस्ट से हुई है। इनमें जो बुजुर्ग हैं, उन्हें अन्य बीमारियां भी थीं। दौलतराम मूलचंदानी (65) लाडकाना नगर और नीरज जोशी (80) के परिजन ने बीमारी से मौत होने की जानकारी दी है।