April 19, 2024

ब्रह्मास्त्र/इंदौर। राष्ट्रीय युवा दिवस स्वामी विवेकानंद की जयंती पर आयोजित जनजातीय कार्य विभाग इंदौर द्वारा महाविद्यालय छात्रावास में अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों को नशे के दुष्प्रभाव की जानकारी देने के लिए भंवरकुआ शासकीय महाविद्यालय छात्रावास प्रांगण में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें मुख्य वक्ता के रूप में पत्रकार विकास त्यागी द्वारा उपस्थित सैकड़ों विद्यार्थियों को बताया गया कि जिस प्रकार नाव में बैठे हुए मछुआरे समुद्र में कांटा डालकर तैरती हुई मछली को कई फीट नीचे समुद्र के गहरे पानी में से बाहर खींच लेते हैं, क्योंकि मछली कांटे में लगे हुए पदार्थ को खाने के लिए लालच कर लपकती है एवं अपना मुंह खोल देती है और उसमें फंस जाती है। फिर मछुआरे उसे बड़ी आसानी से खुश होकर मछली को ऊपर खींच लेते हैं। इसी प्रकार नशे के सौदागर समाज विरोधी ताकतों ने गांव में, कस्बों में, शहरों में कई जगह कांटों में नशे की पुड़िया लगाकर फेंक रखी है। जो विद्यार्थी एवं युवा इस नशे की पुड़िया को खाने के लिए लपकते हैं, वह विद्यार्थी मछली की तरह कांटें में फंस जाते हैं। अपने मुख्य उद्देश्य से भटक कर नशे के सौदागरों द्वारा अपराधियों द्वारा नशे की दुनिया में खींच लिए जाते हैं। पत्रकार विकास त्यागी ने संवाद के दौरान विद्यार्थियों से अपील की कि विद्यार्थी अपने लक्ष्य से भटके नहीं। नशे को पहली बार में ही हमेशा के लिए ना कहें। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जनजातीय कार्य विभाग इंदौर संभाग के आयुक्त बृजेश पांडे ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी इंदौर संभाग के सभी 8 जिलों से पढ़ने के लिए यहां इंदौर में शासकीय हॉस्टल में अध्ययन कर रहे हैं। शासन द्वारा उन्हें सभी प्रकार की सुविधाएं रहने, खाने एवं पढ़ने की निशुल्क उपलब्ध कराई जा रही है। विद्यार्थी सजग रहें, सतर्क रहें एवं नशे रूपी उनके सबसे बड़े दुश्मन से हमेशा बचकर रहें। मनोरंजन के रूप में पहली बार भी सिगरेट, तंबाकू, गुटका, शराब एवं ड्रग्स का सेवन न करें। एक बार लत लग जाने पर इस नशे की लत को छोड़ना मुश्किल हो जाता है। फिर विद्यार्थियों का कैरियर चौपट हो जाता है। नशा करने से शारीरिक मानसिक एवं आर्थिक हानि होती है। कार्यक्रम में अनुसंधान अधिकारी पंकज सक्सेना, इंदौर जिला सहायक आयुक्त निशा मेहरा, मंडल संयोजक विजय जायसवाल एवं श्री सोनी, महाविद्यालय छात्रावास अधीक्षक पी एन अत्रे, प्रदीप झा, जयवेंद्र चौधरी, शांतिलाल निहाल उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत में सभी विद्यार्थियों को नशा न करने की शपथ दिलाई गई। यह कार्यक्रम विकास विश्व कल्याण समृद्धि संस्था जिला इंदौर के सहयोग एवं मार्गदर्शन में किया गया।