April 19, 2024

 

इंदौर। सूर्यदेव धनु राशि से निकलकर 14 जनवरी की रात 8.57 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इसके साथ ही धनुर्मास का समापन होगा। 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी। आमतौर पर मकर सक्रांति 14 जनवरी को आती है, परंतु इस बार 1 दिन बाद 15 जनवरी को मनाई जाएगी।
सूर्य के उत्तरायण होते ही शुभ कार्यों की शुरुआत भी होगी। शहरभर में पतंग उत्सव के साथ पारंपरिक खेलों के आयोजन होंगे।
मकर संक्रांति पर रविवार को पुण्यकाल सुबह 7.09 से शाम 6.03 बजे तक 10 घंटे 53 मिनट रहेगा। मकर संक्रांति का महापुण्यकाल सुबह 7.09 से 8.58 बजे तक एक घंटा 49 मिनट रहेगा। इस वर्ष रविवार को संक्रांति आने से महत्व अधिक हो गया है। इस अवसर पर सू्र्य अपने विशेष परिमंडल में अनुगमन करता है। पर्व पर सूर्य, शनि और शुक्र की युति बन रही है। पिता-पुत्र का एक ही राशि में होना और शुक्र का मकर राशि में होना विशिष्ट माना गया है। इस युति में शुभ कार्य, दान-पुण्य करने से भाग्योदय होता है।