April 16, 2024

ब्रह्मास्त्र नई दिल्ली
इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि यह वायनाड के लोगों का कार्यालय है और वामपंथी छात्र कार्यकर्ताओं की ओर से जो कुछ किया गया, वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने साफ किया कि हिंसा कभी भी समस्याओं का समाधान नहीं करती है और उनके मन में उनके (तोड़फोड़ करने वालों के) प्रति कोई क्रोध या शत्रुता नहीं है। लेकिन मेरे मन में उनके प्रति कोई गुस्सा या शत्रुता का भाव नहीं है। राहुल गांधी ने हिंसा करने वाले एसएफआई कार्यकर्ताओं को ‘बच्चा’ करार दिया।