उज्जैन में चायना की डोर से मौत

उज्जैन। प्रतिबंधित घातक चाइना डोर ने आज दोपहर एक छात्रा की जान ले ली। स्कूटी पर सवार छात्रा के गले में डोर उलझने से बुरी तरह लहूलुहान हो गई थी। उसे निजी अस्पताल ले जाया गया लेकिन जान नहीं बचाई जा सकी।
ज्ञान सागर गर्ल्स स्कूल में अध्ययन करने वाली नेहा आंजना 18 वर्ष जगोटी की रहने वाली थी और अपने मामा के घर इंदिरा नगर में रहती थी। दोपहर में स्कूटी पर सवार होकर अपनी ममेरी बहन निकिता के साथ दांतों का उपचार कराने के लिए फ्रीगंज स्थित डेंटिस्ट के क्लीनिक पर आ रही थी। जीरो प्वाइंट ब्रिज से गुजरते समय अचानक उसके गले में चाइना डोर उलझ गई जिसके चलते गला बुरी तरह लहूलुहान हो गए। घटना के बाद पीछे बैठी बहन निकिता भी घबरा गई। छात्रा नेहा तड़पते हुए जमीन पर गिर पड़ी। जिसे गुजर रहे कुछ लोगों ने तत्काल समीप के निजी अस्पताल पहुंचाया। खून अधिक वह चुका था डॉक्टर उपचार शुरू करते उससे पहले ही छात्रा की मौत हो गई। घटना की जानकारी लगते ही माधव नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। गौरतलब हो कि चाइना डोर पर प्रशासन ने प्रतिबंध लगा रखा है बावजूद मकर संक्रांति पर मुनाफा कमाने के लिए लोगों ने चोरी छुपे लाखों का कारोबार किया है। पुलिस ने पिछले चार-पांच दिनों में आधा दर्जन से अधिक स्थानों पर दबिश देकर हजारों की डोर जप्त की थी लेकिन घातक डोर से हाथ से होना लगातार सामने आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed