April 15, 2024

तराना। रुपए दोगुना करने के नाम पर इंदौर के निवासी व्यपारी से ढाई लाख रुपए की धोखाधड़ी के मामले में पांच आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है एवं दो आरोपी की तलाश जारी है।प्रकरण मैं एक बोलेरो एवं 1लाख 81 हजार 500 रुपये जप्त किए हैं। वही दो आरोपी, स्विफ्ट गाड़ी एवं शेष रुपये की बरामत की जाना है। तराना पुलिस द्वारा 24 घंटे में लूट का खुलासा कर दिया है। शनिवार को थाना परिसर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर टीआई भीम सिंह पटेल ने बताया कि फरियादी राधेश्याम पिता देवीलाल वर्मा निवासी पाटनीपुरा इंदौर ने 17 मार्च को ढाई लाख रुपए की धोखाधड़ी एवं रुपए की लूट की शिकायत की थी। फरियादी की इंदौर पाटनीपुरा में इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान है जहां आरोपी वयास पिता फरीद खान निवासी चंदन नगर इंदौर अपने घर के इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान की रिपेयरिंग कराने आता था। बातचीत के दौरान वयास को यह मालूम हुआ की फरियादी राधेश्याम ने अपने मकान पर 25 लाख का कर्ज लिया है जो कर्जदारो को नहीं दे पा रहा है।
आरोपी वयास फरियादी से बोला कि तुम्हारे पैसे ब्लैकमनी के द्वारा डबल करवा सकता हूं।तराना के पास बिछडोद मैं मेरा दोस्त हाफिज शाह रहता है। जो यह काम करेगा। 16 मार्च को दोपहर 3:00 बजे ढाई लाख रुपए लेकर फरियादी राधेश्याम एवं उसका भाई घनश्याम और वयास खान तराना बस स्टैंड पहुंच गए थोड़ी देर बाद हाफिज शाह बिछडोद यहां पहुंच गए।उसने फोन पर मुन्ना स्विफ्ट गाड़ी लेकर आ गया हाफिज शाह ने फरियादी घनश्याम व
वयास खान गाड़ी में बिठाया और एक बॉक्स में 500 -500 की गड्डी भी दिखाई और बोला कि यह 20 लाख है। जिसमें 5 लाख तुम्हें दूंगा बाकी दूसरी पार्टी को देना है।
हाफिज शाह ने इरफान नामक व्यक्ति को बुलाया फिर
वयास खान,हाफिज शाह , इरफान ने फरियादी राधेश्याम एवं धनश्याम को दूसरी पार्टी को पैसे देने के बहाने गाड़ी में बैठाकर कनीपुरा मार्ग पर ले गए कुछ दूरी पर एक बोलेरो गाड़ी जिसमें 3 लोग रोड पर खड़े थे। जिनको पूर्व में हाफिज शाह ने योजनाबद्ध तरीके से वहां बैठा रखा था। यहां पर तराना निवासी शायर नईम शाह गोलू उर्फ जावेद एवं भूरा बैठे थे। जिन्होंने नकली क्राइम ब्रांच पुलिस बंन कर स्विफ्ट गाड़ी को रोका और हाफिज साहब को डराने धमकाने का नाटक किया फिर सभी को अपनी बोलेरो गाड़ी में बिठाकर कुछ दूर चलकर फरियादी एवं उसके भाई घनश्याम को थप्पड़ एवं मुके मारकर ढाई लाख रुपए का बैग छीन लिया और उन्हें उतार कर भगा दिया।
पहले दिए 50 हजार के 1लाख साइबर सेल की मदद ली
मामले की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों एवं एसडीओपी राजाराम आवाश्या के निर्देशन एवं टीआई भीम सिंह पटेल के नेतृत्व में अज्ञात आरोपियों को पकड़ने में दल गठित किया टीआई भीम सिंह पटेल ने बताया कि आरोपियों द्वारा पूर्व में फरियादी से 50 हजार लिए थे जिसको डबल कर 1 लाख लोटा कर दिए एवं उसका विश्वास प्राप्त कर लिया था।
मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर एवं साइबर सेल की मदद ली गई 24 घंटे में मुखबिर की सूचना पर बिछडोद के जंगल प्रकरण के 1वयास खान पिता फरीद खान निवासी इंदौर,2 हाफिज शाह पिता नन्नू शाह निवासी बिछडोद, इरफान पिता शहजाद निवासी सुंदरसी शाजापुर, शायर एवं पत्रकार नईम शाह पिता अयूब शाह निवासी मदारवर्ड तराना, 5 गोलू उर्फ जुनैद पिता इकबाल खान निवासी मदारवर्ड तराना को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में सभी ने जुर्म स्वीकार किया है। आरोपियों से लूट के रूप में ?181500 एवं घटना में उपयोग लेने वाली बोलेरो वाहन को जप्त किया गया है प्रकरण में दो आरोपी गुरु एवं मुन्ना शिफ्ट वाहन एवं शेष राशि जप्त करना शेष है प्रकरण की विवेचना जारी है।
इनका रहा सराहयनीय योगदान
पुलिस अधीक्षक उज्जैन सत्येन्द्र कुमार शुक्ल के निदेर्शानुसार, अति. पुलिस अधीक्षक आकाश भुरिया महोदय के मार्गदर्शन एवं एस डी ओ पी तराना राजाराम आवाश्या निदेर्शो का पालन करते हुए प्रकरण के खुलासा करने में थाना प्रभारी तराना निरी. भीमसिह पटेल के नेतृत्व में थाने के उनि बाबूलाल चौधरी, सउनि लोकेन्द्रसिह, प्रआर. 352 रामेश्वर पटेल, प्रआर. मांगीलाल मीणा, प्रआर. राहुल, प्रआर मानसिह आर्य, प्रआर. महेश मालवीय आर. आदिराम सायबर सेल से उनि प्रतीक यादव, प्रआर. प्रेम सभरवाल, प्रआर. महेश जाट, प्रवीण की महत्वपूर्ण भूमिका रही।