वीडियो वायरल हुआ तो हिरासत में आया आरोपी । अनाज चोरी का आरोप लगाकर ड्रायवर-वृद्ध से चटवाया था फर्श

दैनिक अवंतिका(उज्जैन) अनाज चोरी का आरोप लगाकर ट्रक ड्रायवर और वृद्ध के साथ मारपीट कर फर्श चटवाने का वीडियो शुक्रवार देर रात वायरल होने पर पुलिस हरकत में आ गई। तत्काल कुछ देर में मामला पता कर ड्रायवर से संपर्क किया गया और आरोपी को हिरासत में लिया गया। मामले संज्ञान में आते ही एसपी खुद नीलगंगा थाने पहुंच गये थे।शक्रवार देर शाम सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ। जिसमें एक युवक के साथ मारपीट होती और वृद्ध के साथ एक व्यक्ति जूते आगे रखकर फर्श चटवता और दोनों से खुद के सिर पर जूते से मारने का बोलता दिखाई दिया। वीडियो तेजी से वायरल हुआ और पुलिस तक पहुंचा। रात 9.30 बजे पुलिस ने वीडियो में दिखाई दिये युवक का पता लगाया तो सामने आया कि विदिशा का रहने वाला नितेश पिता रामबाबू धाकड है। उसे 2 दिन पहले पुष्पा मिशन अस्पताल में भर्ती किया गया था। जहां से डिस्चार्ज होने के बाद वह नानाखेड़ा बस स्टेंड विदिशा जाने के लिये पहुंचा है। नीलगंगा पुलिस ने तत्काल युवक से संपर्क किया और उस तक पहुंची। युवक को नीलगंगा थाने लाया गया। जहां जानकारी लेने पर सामने आया कि वह जीवनखेड़ी स्थित महेश्वरी रोड लाइंस पर ड्रायवरी का काम करता है। 3 अप्रैल को खाचरौद के ग्राम कनवास स्थित सोसायटी से ट्रक में गेहूं भकर लाया था और अनाज मंडी के सरकरी गोडाउन पर खाली करने के बाद ट्रक नागदा-इंदौर रोड पर खड़ा कर महेश्वरी रोड लाइंस के ऑफिस पहुंचा। जहां दस्तावेज जमा करने के बाद उस पर मैनेजर उत्तम दांगी ने अनाज चोरी का आरोप लगाते हुए मारपीट शुरू कर दी। उसके साथ एक अन्य वृद्ध के साथ भी हॉकी से मारपीट की। लेटर पेड पर अनाज चोरी करने का हवाला देकर हस्ताक्षर करवाये। उसे और वृद्ध को नानाखेड़ा थाने लेकर पहुंचा, जहां समझौता कर लिया। उसे चोंट लगी थी रोड लाइंस के एक अन्य सुपरवाइजर सनवर अली ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया। उक्त वीडियो एसपी प्रदीप शर्मा तक पहुंच चुका था। उन्होने जानकरी जुटाकर नीलगंगा पुलिस को मामले में कार्रवाई करने के निर्देश जारी किये और खुद रात 10 बजे थाने पहुंच गये थे। पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपी मैनेजर को हिरासत में ले लिया। एसपी ने बताया कि वीडियो संज्ञान में आया था। जिसे ट्रेस करने करने के बाद फरियादी का पता लगाया गया। वीडियो अनैतिक है, मामले में घटनाक्रम के बाद महेश्वरी रोड लाइन के मैनेजर ने समझौते का प्रयास भी किया था। जिसके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जा रहा है।