करोड़ो की धोखाधड़ी करने वाले सचिव पर दर्ज हुआ प्रकरण -550 किसानों के क्रेडिट कार्ड से की थी हेराफेरी

उज्जैन। सेवा सहकारी संस्था मर्यादित ग्राम लेकोड़ा के किसानों के के्रडिट कार्ड से करोड़ो की धोखाधड़ी करने वाले सचिव के खिलाफ शनिवार रात चिंतामण थाना पुलिस ने धारा 420, 409 का प्रकरण दर्ज कर लिया। मामला उजागर होने के बाद सचिव फरार हो गया था।
पिछले दिनों किसानों के क्रेडिट कार्ड से करोड़ो का गबन करने का मामला ग्राम लेकोड़ा से सामने आया था। ग्राम की सेवा सहकारी संस्था मर्यादित के सचिव निशिकांत चाव्हाण पर किसानों ने भरोसा कर लिया था और क्रेडिट कार्ड से लिये लोन की राशि उसे जमा करने के लिये सौंप दी जाती थी। सचिव किसानों की राशि भी उन्हे लाकर देता था और जमा भी करता था, लेकिन पिछले 6 माह से वह किसानों द्वारा लिये गये लोन,बीमा, खाद-बीज की राशि लेकर जमा नहीं कर रहा था। लेकिन किसानों को जमा रसीद थमा रहा था। किसान राकेश पटेल ने बताया कि उन्होने 6 माह पहले लोन लिया था। जिसकी किश्त उन्होने निशिकांत को दी थी, सचिव निशिकांत ने उन्हे सील लगी जमा पर्ची भी सौंपी थी। जब वह दोबारा बैंक से लोन लेने गये तो पता चला कि सवा लाख रूपये का ओवर ड्यू है। उन्होने गांव जाकर अन्य किसानों से चर्चा की। सेवा सहकारी संस्था के सदस्य किसानों ने जानकारी जुटाई तो बड़ी धोखाधड़ी उजागर हो गई। कई किसानों के क्रेडिट कार्ड में हेराफेरी कर लिमिट से ज्यादा रूपये निकाल लिये गये थे। करीब 550 किसानों के साथ धोखाधड़ी होने का मामला उजागर होने पर सचिव संस्था का ताला लगाकर भाग निकला था। किसानों के साथ सचिव द्वारा की गई धोखाधड़ी के मामले ने तूल पकड़ लिया। किसान जनसुवाई में पहुंचे और कलेक्टर कार्यालय का घेराव कर प्रदर्शन भी किया। किसानों ने जिला सहकारी बैंक के एमडी से भी मुलाकत की। जिसके बाद निशिकांत चव्हाण को निलंबित कर दिया, लेकिन किसानों मामले की जांच कर सभी आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग पर अड़े रहे। इस बीच शनिवार को मामला चिंतामण थाने तक पहुंच गया, जहां पुलिस ने सभी दस्तावेजों को प्राप्त की सचिव निशिकांत के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया। थाना प्रभारी बल्लू मंडलोई ने बताया कि सचिव की तलाश शुरू कर दी गई है। जल्द उसे हिरासत में लिया जाएगा। जांच के बाद ही गबन की राशि सामने आ पाएगी।
चोरी के आरोपियों की तलाश में कोटा पहुंची पुलिस टीम अलखधाम नगर में हुई थी दिनदहाड़े वारदात
उज्जैन अलखधाम नगर में हुई लाखों की चोरी के मामले में आरोपियों का सुराग मिल चुका है। जिनकी गिरफ्तारी के लिये पुलिस की टीम कोटा पहुंची है। संभावना है कि जल्द आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया जाएगा।
नीलगंगा थाना क्षेत्र के अलखधाम नगर में सांई मंदिर से कुछ दूरी रहने वाले दवा कारोबारी राजकुमार बोबल को मकान बना हुआ है। 10 सितंबर रविवार को दोपहर में परिवार इंदौर गया था। शाम को पड़ोस में रहने वाले परिवार ने मकान का ताला और दरवाजा खुला देख बोबल परिवार को सूचना दी थी। परिवार ने रिश्तेदारों को घर भेजा और इंदौर से लौटकर आये। दिनदहाड़े लाखों की चोरी होने का पता चलने पर  टीआई विवेक कनोडिया मौके पर पहुंच गये थे। जांच के लिये फिगंर पिं्रट एक्सपर्ट और खोजी डॉग को बुलाया गया। आसपस लगे कैमरों के फुटेज देखे गये। पंाच दिनों की जांच के बाद पुलिस को चोरी करने वाले आरोपियों का सुराग मिल चुका है। जिनकी गिरफ्तारी के लिये एक टीम कोटा रवाना की गई है। सूत्रों की माने तो बदमाशों को ट्रेस कर लिया गया है। जल्द गिरफ्त में होगें। जिन्हे उज्जैन लाने के बाद एक-दो दिन में खुलासा किया जाएगा। विदित हो कि चोरी के बाद सामने आया था कि बदमाशों ने 7 लाख रूपये नगद और 3 से 4 लाख के आभूषण चोरी किये है। पुलिस ने बोबल परिवार के शुभम बोबल की शिकायत पर शिकायत पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था।

Author: site editor