तराना : धर्म के रास्ते पर चलकर मानव जीवन के कल्याण के लिए कार्य करें

तराना । जीवन में जीवन जीने के लिए श्रेष्ठ इंसान बन कर रहना ही मानव कल्याण के काम वही इंसान आ सकता है जो श्रेष्ठ बनकर, विनम्रता से धर्म के रास्ते पर चलकर सभी को एक समान समझे किसी भी जाति समाज में एक दुसरे मानव से भेद भाव नहीं करे। धर्म के रास्ते पर चलकर मानव जीवन के कल्याण के लिए कार्य करें। यह बात कलश गार्डन में आयोजित। श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान गंगा यज्ञ में भागवताचार्य रसिकानंदन महाराज ने कही। जीवन का मार्ग किस तरह जीवन जीने की राह दिखाता है ऐसे अनेकों उदाहरण देकर श्रीमद् भागवत कथा में बताए है। कथा में बड़ी संख्या में महिलाएं पुरुष आदि उपस्थित रहे। कथा का आयोजन 12 सितंबर तक किया जाएगा। आयोजक जिला पंचायत सदस्य मुकेश परमार द्वारा अधिक से अधिक संख्या में श्रद्धालुओं से उपस्थित का आग्रह किया है।

Author: site editor