डिपो में पहली बार विद्युत करंट मिलते ही 1200 मीटर तक दौड़ी मेट्रो

इंदौर ।  इंदौर में मेट्रो कोच आने के नौ दिन बाद ही शनिवार को मेट्रो कोच डिपो की पटरियों पर अपनी धीमी चाल से विद्युत करंट के साथ दौड़े। इतने कम समय में मेट्रो कोच की जांच कर उसे पटरियों पर थर्ड रेल के माध्यम से 750 डीसी वोल्ट करंट से चलाकर मेट्रो के टीम व इंजीनियर्स ने कीर्तिमान ही स्थापित किया। प्री-टेस्टिंग सेफ्टी रन के तहत मेट्रो डिपो की पटरियों पर 1200 मीटर की दूरी तक वर्षा के दौरान कोच को चलाया गया। इस दौरान ऐसा प्रतीत हुआ मानो मेट्रो कोच की पहली चाल पर वर्षा की बूंदों ने अभिषेक किया।
गौरतलब है कि पूर्व में मेट्रो का ट्रायल रन 14 सितंबर को किया जाना तय किया गया था, लेकिन मुख्यमंत्री की व्यवस्तता और वर्षा के कारण कुछ तैयारियां बाकी होने के कारण ट्रायल रन की तारीख को आगे बढ़ाया जाएगा। हालांकि, मेट्रो के अधिकारी इस माह के अंत तक ट्रायल रन होने की संभावना जता रहे हैं। शनिवार को प्री-टेस्टिंग सेफ्टी रन के दौरान मेट्रो रेल कापोर्रेशन लि. के एमडी मनीष सिंह भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि इंदौर में ट्रायल रन को लेकर तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं। पूर्व में 14 सितंबर को ट्रायल रन की योजना बनाई गई थी और उसके अनुसार ही तैयारियां की गई हैं। मुख्यमंत्री द्वारा समय दिए जाने पर ट्रायल रन की आगामी तारीख तय होगी।
भविष्य में मेट्रो कोच 80 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से चलेंगे
अभी मेट्रो को दिखी धीमी चाल – शनिवार शाम करीब छह बजे गांधी नगर डिपो के स्टेब्लिंग यार्ड से मेट्रो कोच को बाहर लाया गया और थर्ड रेल का करंट मिलने के बाद मेट्रो को तीन से चार किलोमीटर प्रतिघंटे की धीमी गति से पटरियों पर चला गया। गौरतलब है कि मेट्रो कोच को 90 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से चलाने का डिजाइन किया गया है, लेकिन भविष्य में मेट्रो कोच 80 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से चलेंगे।
ल्लछह किलोमीटर दूर स्टेशन से मिला विद्युत करंट – मेट्रो के स्टेशन नंबर-3 के आक्जीलरी सब स्टेशन से करीब छह किलोमीटर दूरी से मेट्रो डिपो तक विद्युत तारों से 750 डीसी वोल्ट का करंट पहुंचा। इससे ट्रेन चली।
ल्लट्रायल रन के दौरान शहरवासियों को कोच दिखाने की तैयारी – इंदौर में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की उपस्थिति में होने वाले मेट्रो के ट्रायल रन के आयोजन के दौरान शहर के कुछ लोगों को मेट्रो डिपो में लाकर कोच को दिखाया जाएगा। इसके लिए डिपो परिसर में मंच व बैठक के लिए कुर्सियों कीव्यवस्था भी की जाएगी। शनिवार को मेट्रो के अधिकारियों ने इस आयोजन की तैयारियों को लेकर परिसर में स्थान तय किया।
ल्ल11 सितंबर को वायडक्ट व प्लेटफार्म पर पहुंचेगी मेट्रो – मेट्रो कोच को 11 सितंबर को वायडक्ट व ट्रायल रन के लिए गांधी नगर स्टेशन से सुपर कारिडोर स्टेशन नंबर- 3 तक चलाया जाएगा। इसके पूर्व डिपो परिसर में एक से दो बार कोच को चलाकर जांच की जाएगी। मेट्रो कोच के जांच संबंधित अधिकांश काम पूर्ण हो चुके हैं। स्टेयर गेज को वायडक्ट व प्लेटफार्म पर चलाने के दौरान कुछ निर्माण संबंधित मिली खामियों को दुरस्त किया जाएगा। उसके बाद ही कोच को प्लेटफार्म पर ले जाया जाएगा।

Author: site editor