स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी की टॉप सूची में इंदौर के 22 वैज्ञानिक, धाक जमाई

इंदौर। चंद्रयान-3 की सफलता के बाद हमारे वैज्ञानिकों ने फिर दुनिया में अपनी धाक जमाई है। स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने विश्व के टॉप 2 प्रतिशत प्रभावशाली वैज्ञानिकों में भारत के 3796 वैज्ञानिकों को जगह दी है। इंदौर के 22 वैज्ञानिक भी इस सूची में हैं। आईआईटी इंदौर से 15, आरआर कैट से 3, देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी से 2 और स्कूल ऑफ साइंसेज व इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी के एक-एक वैज्ञानिक का चयन हुआ है। भोपाल के 33 वैज्ञानिक भी लिस्ट में हैं। खास बात यह भी है कि इंदौर-भोपाल के कुछ वैज्ञानिकों का नाम पिछले कई सालों से इस लिस्ट में आ रहा है। स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी हर साल यह रैंकिंग जारी करती है। इस साल दुनियाभर से 2 लाख वैज्ञानिकों को चुना गया है।
सूची में नामांकित आरआर कैट के डॉ. सीपी पॉल ने बताया कि यह लिस्ट किसी भी वैज्ञानिक द्वारा की गई रिसर्च के आधार पर बनाई जाती है, जिसके द्वारा शोधपत्र प्रकाशित किया गया हो। इसमें नामांकन की कोई प्रक्रिया नहीं होती। सारा डाटा ऑनलाइन जुटाया जाता है। स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रो. जॉन पीए लोंनिडिस ने इस प्रोजेक्ट के तहत किसी वैज्ञानिक के प्रभाव की गणना करने के लिए एक विशेष मैट्रिक्स बनाया है। इसके तहत वैज्ञानिकों को 22 फील्ड्स में रखा गया है और इसकी 174 सब फील्ड्स बनाई गई हैं।

जिन वैज्ञानिकों ने कम से कम 5 पेपर प्रकाशित किए हैं, उन्हें ही इसी प्रक्रिया में शामिल किया गया है। प्रत्येक 174 सब-फील्ड में प्रकाशित हो चुके 1 लाख वैज्ञानिकों का नाम इसमें शामिल किया गया है। इस प्रकार 1.74 करोड़ वैज्ञानिकों की जानकारी जुटाई गई है। इनमें से जो 22 फील्ड्स हैं, उनके टॉप 2% वैज्ञानिकों का नाम लिया गया है और उनमें से जिन वैज्ञानिकों का नाम 3 से अधिक फील्ड्स में शामिल हो, उन्हें सर्वाधिक प्रभावशाली माना गया है।

Author: site editor