क्षिप्रा में रेलवे के सेवानिवृत कर्मी ने लगाई छलांग

ुउज्जैन। क्षिप्रा के बढ़ते जलस्तर में शनिवार सुबह रेलवे के सेवानिवृत्त कर्मी ने छलांग लगा दी। उसे एक युवक ने डूबते देखा। कुछ देर बाद वृद्ध का शव दत्त अखाड़ा पर मिल गया। मामला पारिवारिक विवाद के चलते आत्महत्या का सामने आ रहा है। भूखी माता मंदिर के समीप सुबह 8 बजे के लगभग एक वृद्ध ने क्षिप्रा में छलांग लगा दी थी। उसे एक युवक ने देखा तो बचाने का प्रयास किया, लेकिन तेज बहाव के चलते वह वृद्ध तक नहीं पहुंच पाया। क्षिप्रा का जलस्तर बढ़ा हुआ है और पानी तेजी के साथ बह रहा है। एक घंटे बाद दत्तअखाड़ा घाट पर कुछ लोगों ने वृद्ध का शव बहता हुआ देखा तो पुलिस को सूचना दी। शव नदी से बाहर निकाला। जिसके हाथ पर ऊँ लिखा हुआ था। पेंट-बनियान पहन रखी थी। शिनाख्त का कोई दस्तावेज नहीं मिला। पुलिस ने शव जिला अस्पताल पहुंचाया और मर्ग कायम कर पोस्टमार्टम कराया। दोपहर में मौलाना मौज के पीछे योग माया मंदिर के पास रहने वाले कुछ लोग पहुंचे और मृतक की पहचान कैलाश पिता मनसुख घावरी 62 वर्ष के रुप में की। परिजनों ने बताया कि कैलाश रेलवे में सुपरवाइजर के पद से सेवानिवृत्त हुए है। सुबह अचानक घर से निकल गये थे, जिसके बाद उनकी तलाश की जा रही थी। खबर मिली कि क्षिप्रा से लाश मिली है, तो संहेद के चलते पहचान करने पहुंचे। पुलिस ने शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.