आरक्षक मांग रही थी 10 लाख जेल भेजने की देती थी धमकी

उज्जैन। 14 दिन पहले फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाले एसआई की बेटी ने गुरुवार को मीडिया के सामने पिता की मौत का जिम्मेदार महिला आरक्षक को बताया। बेटी का कहना था कि पिता को ब्लैकमेल किया जा रहा था, 10 लाख मांगे जा रहे थे। नहीं देने पर जेल भेजने की धमकी देती थी। 8 जून को शाजापुर वायरलेस शाखा में पदस्थ एसआई नरेन्द्र कुमार चौहान ने देवासरोड सनराईज सिटी स्थित अपने मकान में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। नागझिरी पुलिस ने मर्ग कायम कर सुसाइडनोट बरामद किया था। 14 दिन बाद गुरुवार को मृतक एसआई की बेटी नेहा और पत्नी ने प्रेस कांफ्रेंस कर पुलिस द्वारा अब तक मामले में प्रकरण दर्ज नहीं करने का आरोप लगाया। बेटी का कहना था कि पिता को उनके ही विभाग में पदस्थ महिला आरक्षक ममता ब्लैकमेल कर रही थी। ममता पिता के अधीन काम करती थी। दिसंबर में उसने पिता से हमें बदमान करने की बात कहीं। जिसको लेकर शाजापुर कंट्रोलरुम पर विवाद हुआ। हमारा पूरा परिवार शाजापुर में रहता है। विवाद होने पर महिला आरक्षक ने पिता और पूरे परिवार की झूठी शिकायत दर्ज करा दी थी। 17 मार्च को लालघाटी पुलिस ने जांच के बाद पिता-माता और हम दोनों बहनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया। ममता ने पिता को विभगीय जांच में भी फंसा दिया था। जिसके बाद समझौता करने के लिये 10 लाख मांग रही थी। वह लगातार पिता को ब्लैकमेल कर रही थी। जिसके चलते पिता 7 जून को शाजापुर से उज्जैन आये और फांसी लगा ली। उन्होने सुसाइड नोट में भी ममता का जिक्र किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.