तराना : वैक्सीन लगाने के बाद छात्रा की मौत

परिजनों का आरोप- वैक्सीन लगने के बाद छात्रा की तबीयत बिगड़ी, जिला अस्पताल आया शव, डॉक्टर पीएम रिपोर्ट के बाद करेंगे मौत के कारण की पुष्टि
ब्रह्मास्त्र उज्जैन। तराना तहसील के बिसनखेड़ी गांव में 16 साल की बालिका के वैक्सीनेशन के बाद मौत का सनसनी खेज मामला सामने आया। छात्रा के शव का पी एम डॉक्टरों की पैनल से करवाया जा रहा है। तराना क्षेत्र के विधायक महेश परमार भी जिला अस्पताल पहुंच गए।
मृतक छात्रा अनुराधा मकवाना (16) पिता भगवान निवासी काठडी गांव माकड़ौन की मूल निवासी है।वह अपने मामा मेहरबान सिंह निवासी बिसन खेड़ा के यहां रहकर पढ़ाई कर रही थी। बुधवार सुबह उसका रजिस्ट्रेशन मामा जितेंद्र के फोन पर हुआ था। और आज दोपहर 12 बजे उसे स्कूल में वैक्सीनेशन किया गया था। गुरुवार को रास्ते में जाते वक्त वह बेहोश हो गई। सूचना पर उसके मामा ने बालिका को खेत पर बेहोश हालत में पाया और तराना अस्पताल लेकर पहुंचे जहां से उज्जैन रेफर किया था, परंतु रास्ते में उसकी मौत हो गई।
विधायक महेश परमार का कहना है कि उन्होंने इस मामले में कलेक्टर व एसडीएम से जांच की बात कही है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि टीके लगवाना महामारी के दौरान जरूरी है, सभी को यह लगवाना है। परंतु बालिका की मौत के कारणों का पता चले और प्रशासन की ओर से पीड़िता को आर्थिक मदद भी मिले।
इस पूरे मामले में सीएमएचओ डॉ संजय शर्मा का कहना है कि परिजनों के आरोप को लेकर पेनल पीएम करवा रहे हैं। पीएम रिपोर्ट से ही मौत के कारण का खुलासा होगा।जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ के सी परमार के अनुसार छात्रा का वेक्सीनेशन सर्टिफिकेट निकाला गया है,इसमें बुधवार को वेक्सीनेशन की पुष्टि हुई है। 24 घंटे बाद छात्रा की मौत होने की स्थिति आरोप मैं सामने आई है। छात्रा के साथ स्कूल में ही अन्य बच्चों को भी वैक्सीन दिया गया।किसी को भी कोई समस्या तक नहीं हुई है।परिजनों के आरोप की जांच की जा रही है।

You may have missed