ओमिक्रॉन के बीच आईएमए प्रमुख डॉ. प्रफुल कमाणी की चेतावनी : फरवरी से कोरोना की तीसरी लहर का खतरा

ब्रह्मास्त्र राजकोट। गुजरात में कोरोना के केस बढ़ने और कोरोना के नए वैरिएंट की एंट्री के बाद तीसरी लहर की भनक लग रही है। ऐसे में डॉक्टर्स आगामी 15 दिन काफी महत्वपूर्ण बता रहे है। डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना का नया ओमिक्रॉन वैरिएंट माईल्ड प्रकार का है, लेकिन काफी तेज रफ्तार से एक दूसरे को संक्रमित करता है तथा लंबे समय तक शरीर में एक्टिव रहता है। बच्चे भी संक्रमित होने लगे है इसलिए कक्षा 1 से 5 तक की स्कूल में कम से कम 15 दिन तक बंद रखने के लिए आईएमए द्वारा सूचित किया गया है।
राजकोट द्वारा आईएमए प्रमुख डॉ प्रफुल कमाणी के साथ विशेष बातचीत की गई। इस दौरान उन्होंने बताया कि बच्चों में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। इसके पीछे के कारणों को देखा जाए तो कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों के लिए हमारे पास एन 95 मास्क एवेलेबल नहीं। इन बच्चों को नॉलेज नहीं रहता कि एक साथ बैठकर शेरिंग कर नाश्ता नहीं करना चाहिए, स्कूल वैन अथवा बस में एक साथ बैठना नहीं चाहिए। इसलिए 15 दिन के लिए बच्चों की स्कूल बंद करना बहुत जरूरी है।

You may have missed