उज्जैन बंद कमरे में मिली लाश का खुलासा : गाली देकर अपमानित करता था तो मार डाला

ममेरा भाई गिरफ्तार, आज पेश करेगी पुलिस

उज्जैन। पटेलनगर में बंद कमरे से मिली लाश का रविवार रात खुलासा कर दिया गया। मृतक मामा और परिवार को आये दिन गाली देकर अपमानित करता था, इसलिये ममेरे भाई ने रस्सी से गला घोंटकर मार डाला।

10 दिसंबर की सुबह पटेलनगर में बंद कमरे से मिली चार दिन पुरानी हिमांशु पिता रमेश लालवानी 22 वर्ष की लाश के मामले में शनिवार रात हत्या का प्रकरण दर्ज करते हुए पुलिस ने मृतक के ममेरे भाई चिराग पिता दिनेश चांदवानी निवासी सिंधी कालोनी को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में सामने आया कि हिमांशु अपने पिता से अलग रहता था, और पिता की जेब से पैसे चुरा लेता था, जिसके चलते पिता-पुत्र में विवाद होता था। हिमांशु का शंका थी कि उसकी हरकतों के बारे में पिता को मामा का बेटा चिराग बताता है। वह मामा के घर जाकर गाली गलौच करता था, लोगों के सामने परिवार को अपमानित करता था और धमकी देता था, जिसके चलते चिराग काफी गुस्से में रहता था।

6 दिसंबर को जब चिराग पटेलनगर पहुंचा तो हिमांशु और चिराग के बीच विवाद हुआ। आवेश में चिराग ने उसका गला रस्सी से घोंट दिया और शव बाथरुम में पानी की टंकी के नीचे छुपाकर मकान का बाहर से ताला लगाकर भाग निकला। वह हिमांशु का मोबाइल अपने साथ ले गया था। मामले का खुलास होने पर पुलिस ने चिराग की निशानदेही पर मकान की चाबी और मोबाइल बरामद कर लिया है। आज उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा।

You may have missed