होटल में शादी : खाना खाने व पानी पीने के बाद 27 लोग उल्टी-दस्त के शिकार अपना एवेन्यू होटल मैनेजमेंट से शिकायत की तो, उन्होंने जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया

ब्रह्मास्त्र इंदौर। शहर में एक होटल शादी के लिए बुक करवाई गई। वहां पर 2 दिन तक शादी समारोह भी चला, लेकिन लापरवाही की हद तब हो गई, जब पानी पीने और खाना खाने के बाद मौजूदा करीबन 50-60 लोगों में से 22 से 27 लोग उल्टी-दस्त के शिकार हो गए। ऐसी स्थिति में होना तो यह चाहिए था कि होटल मैनेजमेंट इसकी जिम्मेदारी लेते हुए अपनी व्यवस्थाएं सुधारते, लेकिन आरोप है कि जब उनसे शिकायत की गई तो मैनेजर ने पूरे मामले से हाथ झटक दिया। इस मामले में होटल मालिक से भी बात करने की संबंधित पक्ष ने कोशिश की। लेकिन, न तो उनका फोन नंबर दिया जा रहा है, न ही उनसे मिलाया गया और न ही बात करवाई गई। मामला जंजीरवाला चौराहा स्थित होटल अपना एवेन्यू का है। पीड़ित पक्ष श्रीमती श्वेता ने बताया कि उन्होंने 30 नवंबर और 1 दिसंबर 2 दिन शादी के लिए होटल बुक करवाई थी। जिसमें भोजन आदि सभी व्यवस्थाओं का जिम्मा होटल मैनेजमेंट का था। लड़की की शादी थी और बारात पुणे से आई थी। उन्होंने बताया कि फिल्टर पानी की जगह नॉर्मल पानी ही सर्व किया गया। खाने में भी कुछ ऐसी गड़बड़ थी कि वर और वधू पक्ष के 22 से 27 लोग बीमार हो गए और उन्हें उल्टी दस्त की शिकायत हो गई। उन्होंने बताया कि लोग होटल में ही बीमार पड़ने लगे थे। इसकी जानकारी होटल मैनेजमेंट को भी है, लेकिन इस मामले में कोई रिस्पांस नहीं मिल रहा है। अपना एवेन्यू होटल मैनेजमेंट शिकायत करते ही अपने ग्राहक पक्ष से परायों की तरह व्यवहार करने लगा। मैनेजमेंट अपनी जिम्मेदारी से पूरी तरह पल्ला झाड़ रहा है। शादी समारोह में उस वक्त मौजूद लोगों का कहना है कि यह लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ का मामला है। यदि मेहमानों का स्वास्थ्य कुछ और ज्यादा बिगड़ जाता तो हालात गंभीर भी हो सकते थे। जो भी हो , कम से कम होटल मैनेजमेंट को इस मामले में एक जिम्मेदार की तरह व्यवहार तो करना चाहिए। यह लापरवाही जानलेवा भी हो सकती थी।
मामला गड़बड़ है..

अपनी जिम्मेदारी से बचने के लिए जब इस तरह की कोई घटना होती है तो, आमतौर पर होटल मैनेजमेंट कोई न कोई नया बहाना बनाना शुरु कर देते हैं। इन्होंने कुछ और भी खाया होगा, जिसके कारण ऐसा हुआ। इस तरह की बातें की जाने लगती हैं, लेकिन यदि कोई दो – चार लोग बीमार पड़े होते तब भी समझ में आता। 22 से 27 लोगों का उल्टी दस्त का शिकार होना यह बता रहा है कि मामला गड़बड़ है।

निर्धारित राशि में शामिल होती है सर्विस

आमतौर पर होता यह है कि शादी जैसे समारोह में बुकिंग करवाने वाला वर या वधू पक्ष निर्धारित राशि देकर भोजन – पानी की व्यवस्था से मुक्त हो जाता है, क्योंकि होटल में शादी करने और वहां की व्यवस्था यानी सेवा का शुल्क तो वह देता ही है। इस सर्विस का पैसा देने के बावजूद यदि शादी समारोह में आए मेहमान बीमार पड़ जाएं तो मेजबान के लिए यह बहुत मुश्किल वाला वक्त होता है। इस मानवीयता को समझा जाना जरूरी है। शादी का आनंद ही खत्म हो जाता है।