वेटर्स की भगवा ड्रेस हटाई, पैंट शर्ट पहनाए, रुद्राक्ष की माला भी उतार दी, रामायण एक्सप्रेस विवाद में उज्जैन के संतों की नाराजगी से होश में आए अफसर

ब्रह्मास्त्र उज्जैन। रामायण एक्सप्रेस में वेटर्स के यूनिफॉर्म कोड पर हुए विवाद पर आईआरसीटीसी बैकफुट पर है। विवाद के बाद रेलवे ने वेटर्स की यूनिफॉर्म बदल दी है। अब संतों की वेशभूषा की जगह साधारण पेंट और शर्ट वेटर्स को पहनाया गया है। सिर पर साफा भी है। इसके फोटो आईआरसीटीसी ने शाम को ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर शेयर किए। इसके साथ ही लिखा- यह सूचित किया जाता है कि ट्रेन के सर्विस स्टाफ की ड्रेस पूरी तरह से प्रोफेशनल सर्विस स्टाफ की तरह कर दी गई है।
इसके साथ ही आईआरसीटीसी ने नई ड्रेस में सर्विस स्टाफ यानी वेटर के नए फोटो भी अपलोड किए हैं। आईआरसीटीसी ने शाम 7.36 मिनट पर नई ड्रेस के साथ अपने सर्विस स्टाफ का फोटो अपलोड किया।

उज्जैन के संतों ने जताई थी आपत्ति

रामायण एक्सप्रेस में संतों की वेशभूषा में वेटर्स यात्रियों को खाना सर्व कर रहे थे। उनके बर्तन उठा रहे थे। इस पर उज्जैन के संतों ने आपत्ति जताई थी। उन्होंने इसे संतों का अपमान बताया था। कहा था कि 12 दिसंबर को चलने वाली अगली ट्रेन में इसका देशभर में विरोध किया जाएगा।

You may have missed