अब बुध ने भी बदली राशि, वृश्चिक  में प्रवेश से बुध आदित्य योग बनेगा

– बुध व्यापार में दिलाएंगे सफलता तो सूर्य देव देंगे समृद्धि 

दैनिक अवंतिका उज्जैन। बुद्धि व वाणी के कारक ग्रह माने जाने वाले बुध ने 21 नवंबर को वृश्चिक राशि में प्रवेश किया। इसी राशि में सूर्य ने हाल ही में प्रवेश किया था। सूर्य के साथ बुध का प्रवेश होने से बुध आदित्य योग का संयोग भी बन गया है। बुध व सूर्य दोनों ही ग्रह के एक ही राशि में होने से यह शुभ बताया जा रहा है। इन दोनों ग्रहों की एक साथ युति आगामी 10 दिसंबर तक बनी रहेगी। यह शुभ फलदायक बताया जा रहा है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पंडित अमर डब्बावाला ने बताया कि बुध व सूर्य की युति सफलता दिलाने वाली रहेगी। बुध के राशि परिवर्तन से एक दिन पहले ही बृहस्पति भी राशि बदलकर कुंभ में प्रवेश किया है। लोगों को इस राशि परिवर्तन से कई तरह के लाभ मिलेंगे।

ज्योतिष में बुध आदित्य योग को बहुत ही शुभ माना गया
सूर्य ग्रह सिंह राशि के स्वामी है। ये मेष राशि में उच्च के और तुला राशि में नीच के होते हैं। जब भी बुध और सूर्य एक राशि में आकर युति करते हैं तो बुध आदित्य योग बनता है। ज्योतिष शास्त्र में इसे बहुत ही शुभ माना गया है। सूर्य जहां सुख-समृद्धि में वृद्धि, नौकरी में तरक्की व सम्मान दिलाने वाले हैं तो मिथुन और कन्या राशि के स्वामी बुध बुद्धि प्रदाता है और व्यापार में सफलता दिलाते हैं।

You may have missed