सूर्य को अर्घ्य देकर महिलाओं ने 36 घंटे का निर्जला व्रत खोला

तपेश्वरीबाग के श्रीराम जानकी मंदिर पर पहली बार हुई छठ पूजा

ब्रह्मास्त्र इंदौर। आस्था का महापर्व छठ इंदौर में विभिन्न स्थानों पर धूमधाम से मनाया गया। महोत्सव के चौथे दिन आज तड़के 3 बजे ही छठ घाटों पर श्रद्धालु पहुंच गए और पूजा अर्चना में लीन हो गए। महिलाएं तड़के 4 बजे से ही जलकुंड में खड़ी होकर भगवान सूर्य के उदय होने की प्रतीक्षा करने लगी और जैसे ही उनकी लालिमा दिखने लगी श्रद्धालु जल,दूध,फूल और अक्षत से अर्घ देकर 36 घंटे का निर्जला उपवास खोला। शहर के बाणगंगा,पिपलियापाला तालाब, विजयनगर ,श्याम नगर,तपेश्वरी बाग कालोनी, तुलसी नगर, कैट रोड,देवासनाका,मांगलिया, निपानिया सहित अन्य स्थानों पर छठ पूजा का आयोजन किया गया, जहां तड़के से ही सभी श्रद्धालु पहुंच कर भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया।

पार्षद सहित सैकड़ों लोग पहुंचे

तपेश्वरीबाग के श्रीराम जानकी मंदिर में पहली बार हुई छठ पूजा में सांई कृपा कालोनी, न्यू शीतल नगर, चित्रा नगर,तपेश्वरीबाग,साई धाम और सोलंकी नगर सहित आसपास की कॉलोनियों बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। क्षेत्रीय पार्षद राजेश कटारिया भी पहुंचे और पूजा अर्चना की। आयोजक अनिता पाठक एवं रूबी मिश्रा ने बताया कि अगले वर्ष पक्का जलकुंड बनाए जाने का प्रयास है। इसके लिए नए साल से तैयारियां भी शुरू कर दी जाएंगी।

रातभर गूंजी छठ माता के गीत

केरवा जे फरेला घवद पर… उग हे सूरज देव करी हथ जोरिया…अरघ की बेरिया…सहित अन्य गीत देर रात तक गूंजते रहे। प्रसादी में मुख्य रूप से ठेकुआ,सेवफल,केला,अनार, जामफल,अंगूर,मोसम्बी,पपीता, आंवला,रतालू,गन्ना,कच्ची हल्दी, नारियल,अंगूर आदि लोगों को बांटी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *