कर्जे के 15 लाख के लिए इंदौर में हुई उज्जैनी अक्कू की हत्या

ब्रह्मास्त्र इंदौर। पोलोग्राउंड के सामने वाल्मीकि नगर के आकाश उर्फ अक्कू पिता यशवंत मिड़किया की हत्या के मामले में जांच कर रही पुलिस आकाश की पिछली जिंदगी के विवादों को टटोलने के लिए फ्लेशबैक में पहुंची तो कुछ अहम सुराग हाथ लगे। अक्कू मूल रूप से उज्जैन का रहने वाला है। बाणगंगा के बाल्मीकि नगर में रहने वाला आकाश टेलीपरफारमेंस कंपनी में नौकरी करता था। उसकी पत्नी वर्तिका देवास के अमलतास अस्पताल में एच आर है। बताया जा रहा है कि आकाश पर 15 लाख रुपए का कर्जा होने के बाद वह इंदौर में रहने लगा था।
पुलिस ने उज्जैन के दो तो इंदौर के तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है।
आईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि पुलिस ने रात 2 बजे तक घटना स्थल से लेकर वाल्मीकि नगर और एलआईजी चौराहे तक के 45 सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। ंउससे प्रतीत हो रहा है कि दो मोटरसाइकिलों पर तीन लोग हत्या करने आए थे। फुटेज में एक बाइक सवार इंदौर का दिख रहा है, जिसे पहचान लिया गया है। इससे आकाश की कुछ माह पहले ही पहचान हुई थी। वहीं दो युवक उज्जैन के भी हो सकते हैं। इसके अलावा इंदौर के ही दो अन्य लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस अब लूट के बिंदु से जांच को हटा चुकी है। उज्जैन पुलिस से मदद ली गई तो पता चला कि आकाश के यहां कई लोगों से लेन-देन के विवाद चल रहे थे। जिनसे विवाद चल रहे थे, उनके मोबाइल नंबर आकाश के फोन में मिले हैं। वे आकाश से बात भी कर रहे थे। इन्हीं में से दो लोगों को बाणगंगा थाने पूछताछ के लिए लाया गया है।

परिवार की मर्जी से किया था प्रेम विवाह

बताया जा रहा है कि आकाश जब उज्जैन में रहता था, तभी उसका प्रेम विवाह हो चुका था। पुलिस ने प्रेम विवाह के दौरान विवाद वाले एंगल की भी जांच की तो आकाश और उसके ससुराल वालों के बीच प्रेम विवाह को लेकर कोई खास विवाद नहीं निकला। इसके चलते बाद में इस बिंदु पर ज्यादा जोर नहीं दिया, लेकिन पुलिस यह दावे के साथ कह रही है कि उज्जैन से ही हत्या का सुराग मिलेंगे, क्योंकि वहीं से लेन-देन के विवाद की बातें सबसे ज्यादा सामने आई हैं। लेकिन जो एक बिंदु पुलिस को परेशान कर रहा है, वह यह है कि फुटेज में जो इंदौर का एक व्यक्ति दिख रहा है, उसका क्या रोल है। उस संदिग्ध का भी उज्जैन कनेक्शन जोडक़र देखा जा रहा है।

You may have missed