गृहमंत्री मिश्रा की फिसली जुबान: पर अब “पंजे” का होगा वार..!

मंत्री नरोत्तम मिश्रा के मुंह से निकल गया कि कोई कल्पना भी कर सकता है कि ऑक्सीजन की वजह से भी लोग मर सकते हैं, लेकिन मरे….

ब्रह्मास्त्र इंदौर । जिले के प्रभारी मंत्री एवं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस पर हुए एक आयोजन में संबोधन के दौरान जुबान फिसल गई। उन्होंने कहा कि कोई कल्पना कर सकता है कि ऑक्सीजन की वजह से भी लोग मर सकते है, लेकिन मरे। उनका आशय भले ही ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीज की मौतों को लेकर था, लेकिन कांग्रेस अब इसे भुनाने की तैयारी में है। गौरतलब है कि ऑक्सीजन से मौत मामले में उस वक्त बेहद बवाल मचा था ,जिसे सरकार पहले ही सिरे से नकार चुकी है कि प्रदेश में किसी भी कोरोना मरीज की ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई। बहरहाल जो भी हो गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की फिसली जुबान पर अब पंजे ( कांग्रेस ) का वार होने की तैयारी है। गृहमंत्री मिश्रा के इस बयान को लेकर अब काफी हलचल है।
दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा प्रदेशभर में 17 सितंबर से 7 अक्टूबर 2021 तक ‘जनकल्याण और सुराज अभियान’ आयोजित किया जा रहा है। इसी कड़ी मे उन्होंने अपने उद्बबोधन में वृक्षों का महत्व समझाया और अप्रत्यक्ष रूप से स्वीकारा कि ऑक्सीजन की कमी से भी मौतें हुई हैं। उन्होंने कहा कि वृक्षों के महत्व को आने वाली पीढी को बताए तो ही हम समाज के साथ न्याय कर पाएंगे। हम अभी जो सांस ले रहे हैं वे खुली हवा से रहे हैं, वह ऑक्सीजन ही कहलाती है। कोई कल्पना कर सकता है कि उस ऑक्सीजन की वजह से भी लोग मर सकते हैं लेकिन मरे। सिर्फ इसलिए कि हमने वृक्षों के महत्व को नहीं समझा। हमें जो चीज नि:शुल्क मिली उसका महत्व समझा ही नहीं। हम मान लेते हैं कि यह तो मिलना ही चाहिए, यह हमारा अधिकार ही है। अभी (इशारा कोरोना काल पर) हमने देखा कि लोगों को जिंदा रखने के लिए ऑक्सीजन प्लेन से, ट्रकों से आ रही है। ऐसे में अब लोगों का ध्यान गया हो कि ये वृक्ष कितने जरूरी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *