सोने- चांदी के महल में बिराजे गोपाल…और दो दिन पहले सपना हो गया साकार

जन्माष्टमी पर विशेष

उज्जैन के गोपाल मंदिर में सिल्वर व गोल्डन कलर का रंग रोगन…ऐसा लगता है मानो भगवान सोने-चांदी के महल में हैं विराजमान

ब्रह्मास्त्र उज्जैन। गोपाल मंदिर क्षेत्र में एक घड़ी व्यापारी को सपना आया कि भगवान श्री कृष्ण सोने- चांदी के शानदार महल में विराजमान हैं। सपना टूटने के बाद उसे कल्पना हुई कि क्यों न गोपाल मंदिर का रंग रोगन करवाया जाए। सिल्वर और गोल्डन कलर की पुताई करवाई जाए। कहते हैं कि हरि इच्छा हरि कथा अनंता। शायद भगवान श्रीकृष्ण की ही इच्छा थी कि उनके मंदिर का रंगरोगन हो जाए, जो वर्षों से नहीं हुआ था।
घड़ी व्यापारी राकेश परमार ने जब अपनी इस इच्छा को मित्रों तक पहुंचाया …और देखते ही देखते सपना साकार होने लगा। गोपाल मंदिर का शानदार रंग रोगन हो चुका है। अब जब देखो तब ऐसा लगता है, मानो भगवान द्वारकाधीश गोपाल सोने -चांदी के महल में विराजमान हैं।

व्यापारी और मित्रों ने किया तन मन धन से सहयोग

घड़ी व्यापारी राकेश सिंह परमार ने बताया कि मैंने सपने और इच्छा अपने मित्रों को बताई कि मैं मंदिर में कलर करवाना चाहता हूं। हम मंदिर समिति के पास गए तो उन लोगों का विशेष सहयोग रहा कि उन्होंने कहा यह काम बहुत बड़ा है। इसलिए आप अकेले अपने हाथ में लेने की बजाए गोपाल मंदिर के सभी व्यापारियों से इसमें सहयोग ले लें, तो यह काम आसानी से हो जाएगा। यह बात जब सभी व्यापारियों के बीच रखी और उन्हें बताया कि भगवान श्री कृष्ण को सोने- चांदी के महल में बैठाने का जो मेरा सपना है, मैं तो इसे अकेला ही करवाना चाहता हूं, लेकिन मंदिर समिति तथा मित्रों का कहना है कि आप लोग सभी गोपाल मंदिर में ही रहते हो , वही व्यापार करते हो तो सभी का सहयोग होना चाहिए। यह बात सुनते ही सभी व्यापारियों का तन, मन, धन से पूरा सहयोग मिला। यह काम 18 अगस्त से शुरू किया था और आज 27 अगस्त तक लगभग पूरा हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *