मालवा-निमाड़ में थी दंगा भड़काने की साजिश! इंदौर में तो दंगे की साजिश रचने वाले चार दरिंदों को कर भी लिया गिरफ्तार

दोनों ही अंचलों में हुए घटनाक्रम खुद कर रहे चुगली

ब्रह्मास्त्र इंदौर। शहर की खजराना पुलिस ने चार ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया है, जो इंदौर में दंगा भड़काने की साजिश रच रहे थे। दरअसल पिछले 15 अगस्त से जो घटनाक्रम लगातार चलता रहा और मुहर्रम पर भी जिन घटनाओं ने जन्म लिया, यह तमाम घटनाएं जता रही हैं कि मालवा और निमाड़ में दंगा भड़काने की साजिश थी। ऐसे तत्वों को ढूंढना जरूरी है। इंदौर पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है, जिनके निशाने पर हिंदूवादी संगठन तथा पर्व त्योहार थे। गौरतलब है कि इंदौर में स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराते वक्त भारत माता की जय और वंदे मातरम बोलने पर हमला किया गया था। राजवाड़ा पर भाजपा के ही मंच से एक मुस्लिम नेता द्वारा एक बालिका को मंच से इसलिए उतार दिया गया था, क्योंकि उसने वंदे मातरम तथा भारत माता की जय बोला था। इंदौर में ही चूड़ी वाले का भी प्रकरण हुआ। जिसकी चर्चा प्रदेश से बाहर दिल्ली तक रही। चूड़ी वाले का असल नाम तस्लीम है, जबकि वह गोलू नाम से दो-दो आधार कार्ड लेकर घूम रहा था। चूड़ी वाले ने एक नाबालिग बच्ची से छेड़खानी भी की। सेंट्रल कोतवाली थाना भी घेर लिया गयानी था।
उज्जैन में भी मोहर्रम पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे। पुलिस ने कुछ लोगों पर देशद्रोह का मामला दर्ज करते हुए गिरफ्तार भी किया है। जिला प्रशासन ने चार पर रासुका भी लगाई है। उज्जैन से साहिल भी गिरफ्तार हुआ, जिसने इंस्ट्राग्राम पर पाकिस्तानी झंडा लगा लिया था। आगर मालवा में सवारी पर पथराव हुआ तो वहीं खंडवा में भी बिना अनुमति ताजिया निकालकर आपत्तिजनक नारे लगे। मालवा- निमाड़ के कुछ अन्य हिस्सों में भी इसी तरह की घटनाएं हुई हैं। जो यह बताती हैं कि सिर्फ इंदौर में ही नहीं बल्कि इस समूचे दोनों अंचलों में दंगा भड़काने की साजिश थी। जरूरी यह है कि उन तत्वों को समय रहते पकड़ लिया जाए और उनके नेटवर्क को ध्वस्त किया जाए। वरना, आने वाले त्यौहार अशांति से भरे हो सकते हैं।

सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश

एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि खजराना पुलिस ने चार ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जो शहर के सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास कर रहे थे। उनके पास से मिले मोबाइल में कई ऐसे संदेश प्राप्त हुए है जो उनके ऑपरेशन से सीधे ताल्लुकात रखते है। वह किस संगठन से संबंध रखते है अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। उसकी जांच की जा रही है, पड़ताल करने पर आरोपियों के अन्य सदस्यों की पुष्टि होने पर उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *