इंदौर में झंडा फहराने के बाद हुआ था झगड़ा, दो लोगों को जेल भेजा, 2 दर्जन की होगी गिरफ्तारी, जल्द रासुका और जिलाबदर भी करेंगे

ब्रह्मास्त्र इंदौर। नायता मुंडला में दो समुदाय के बीच नारेबाजी को लेकर विवाद हुआ था। इसमें दोनों पक्षों से करीब दो दर्जन से अधिक आरोपियों पर कारवाई की गई थी। मामले में पुलिस ने दो आरोपियों कोर्ट में पेश किया। इसमें उन्हें जेल भेज दिया गया। अभी मामले में और आरोपियों की गिरफ्तारी होना बाकी है। जिन पर रासुका ओर जिलाबदर की कारवाई भी जाएगी।
तेजाजी नगर पुलिस ने सोमवार को नायता मुंडला में हुए विवाद में शेख नासिर पिता अब्दुल कादर, अकील पिता नासिर को पकड़ा था। इसमें उन्हें जेल भेज दिया गया। इस मामले में अभी एक पक्ष से करीब एक दर्जन से अधिक लोगों की गिरफ्तारी बाकी है, जबकि दूसरे पक्ष से भी 10 लोगों की गिरफ्तारी होना है।
दूसरे दिन भी लगा रहा फोर्स
15 अगस्त को हुए विवाद के बाद यहां ऐहतियात के तौर पर दूसरे दिन भी फोर्स लगाए रखा। इसमें टीआई समेत अन्य अधिकारी भी यहां पहुंचे थे। एसपी आशुतोष बागरी के मुताबिक दोनों पक्षों की जानकारी निकली जा रही है। इसमें माहौल बिगाड़ने वालो पर उनके अन्य थानों में केस होने पर रासुका और जिलाबदर को कारवाई की जा सकती है।
एक ने बताया नारेबाजी हो रही थी, दूसरे ने कहा- डीजे को लेकर हुआ विवाद
पुलिस ने एक पक्ष के लक्ष्मीकांत दोहरे की शिकायत पर शोएब, शादाब, बड़ा इम्मु इमरान, रफीक, राजा, सद्दाम, भय्यु, जीशान, अश्लाल, सोहेल, आवेश खान, जुबैर खान, साजिद, सल्ला, फरहान, रईस और अन्य लोगों पर केस दर्ज किया है। इसमें बताया गया है, वहां आरोपी शादाब पहुंचा था, जिनसे डीजे के रखने के लिए चाबी मांगी। इसे नहीं देने के चलते वहां पथराव किया गया। दूसरी तरफ से रफीक मोहमद खान की शिकायत पर धर्मेंद्र, सोनू, कमलेश, शुभम, नितिन अजय, राजकुमार और राजकुमार कबाड़ी समेत अन्य को आरोपी बनाया गया है। इस शिकायत में बताया गया है, झंडा वदन के दौरान इस पक्ष की तरफ से नारेबाजी की गई, जिसमें विवाद कर पथराव किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *