प्रदेश में मंत्री से संत्री तक से हुआ राष्ट्र ध्वज का अपमान मंत्री मोहन यादव ने उल्टे झंडे में ले ली सलामी… कांग्रेस ने कहा – यह राष्ट्रद्रोह

इंदौर में देश विरोधी नारेबाजी… आगर मालवा में पार्टी कार्यालय पर भाजपा के ध्वज के नीचे फहराया तिरंगा…सेंधवा में कांग्रेस विधायक के कार्यालय पर भी उल्टा राष्ट्रध्वज

ब्रह्मास्त्र इंदौर। मध्यप्रदेश में कल जहां स्वतंत्रता दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया, वहीं कई स्थानों पर राष्ट्रध्वज तिरंगे का जाने – अनजाने अपमान भी हुआ। राजगढ़ के प्रभारी मंत्री तथा उज्जैन से विधायक मोहन यादव ने उल्टे लगे तिरंगे के साथ सलामी ले ली। जिस जिप्सी पर मंत्री सवार थे, उसी पर राजगढ़ के कलेक्टर और एसपी भी मौजूद थे। तिरंगे के सम्मान में जाहिर तौर पर छोटों को नाप दिया गया और मंत्री तथा अफसर पर कोई कार्यवाही नहीं। कांग्रेस ने इसे राष्ट्रद्रोह बताया है।
बड़वानी जिले के सेंधवा में कांग्रेस विधायक ग्यारसी लाल रावत के विधायक कार्यालय पर भी उल्टा झंडा फहरा दिया गया, हालांकि विधायक का कहना है कि ध्वजारोहण के पहले ही गलती ठीक कर ली गई थी। यहां भी चपरासी पर दोष मढ़ दिया गया। यह और बात है कि भाजयुमो ने इसे राष्ट्रध्वज का अपमान बताते हुए विधायक पर कार्यवाही की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा। उज्जैन संभाग के ही आगर मालवा में पार्टी कार्यालय पर भाजपा के ध्वज के नीचे राष्ट्रध्वज तिरंगा फहराये जाने का आरोप है। इंदौर के तेजाजीनगर इलाके में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के दौरान दो पक्ष आपस में भिड़ लिए। देश विरोधी नारेबाजी भी इस दौरान की गई। एक दुकान और वाहन फोड़ दिए जिससे भगदड़ मच गई। यहां के गांव नायता मुंडला स्थित कावेरी बिल्डिंग में झंडा वंदन के बाद भारत माता की जय के नारे लगाए जा रहे थे। उसी दौरान तब विवाद हो गया जब बताया जा रहा है कि कुछ लोगों ने भारत विरोधी नारे लगाना शुरू दिया। पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ बलवा , पत्थरबाजी और मारपीट की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *