बोरवेल में गिरी 5 वर्षीय राधिका , ग्रामीणों ने निकाला , बचाया नहीं जा सका बच्ची को 

बोरवेल में गिरी 5 वर्षीय राधिका , ग्रामीणों ने निकाला , बचाया नहीं जा सका बच्ची को उज्जैन के पास जोगीखेड़ी में दोपहर  3 बजे के लगभग 5 साल की बच्ची राधिका आंजना  घर के पास खोदे गए  बोरवेल में गिर गई। ग्रामीणों को पता चला, तो भीड़ लग गई। पुलिस को भी सूचना दी गई। इससे पहले बच्ची को बचाने की कोशिशें शुरू हो गईं। इस बीच मौजूद लोगों में से एक ने हेकड़ी की मदद से बच्ची को बाहर निकाल लिया। बच्ची को निजी अस्पताल  ले जाया गया। यहां डॉक्टरों राधिका को  मृत घोषित कर दिया।।

 

घटना जिला मुख्यालय से करीब 8 किलोमीटर दूर रुई गढ़ा के जोगीखेड़ी गांव में  हुई। बच्ची के पिता पदम सिंह आंजना ने बताया, घर के सामने खेत में एक साल पहले बोरवेल खुदवाया था। 150 फीट खुदवाने के बाद भी इसमें पानी नहीं निकला। इसके बाद इसे बंद करवा दिया, लेकिन वर्तमान में बारिश के कारण ऊपर रखी मिट्‌टी नीचे धंस गई। इससे गड्‌ढा दिखने लगा। दोपहर में बेटी राधिका  उर्फ वेदिका आंजना (5) , बड़ी बहन माया और गांव के दूसरे बच्चों के साथ खेल रही थी। इसी दौरान वह पैर फिसलने से बोरवेल में गिर गई। बच्ची को गिरते हुए पास ही मौजूद उसकी ताई ने देख लिया। उन्होंने तुरंत घरवालों को बताया। वहां ग्रामीण भी आ गए। लोगों का कहना है, घटना के बाद उन्होंने पुलिस थाने और कंट्रोल रूम पर सूचना दे दी थी। इसके बावजूद आधे घंटे तक कोई नहीं पहुंचा। ग्रामीणों ने अपने स्तर पर प्रयास शुरू किए।

 

मदद मिलने से पहले निकाला बच्ची को ।।

ग्रामीणों ने बताया की  बच्ची करीब 30 फीट अंदर चली गई थी। गांव के ही अंतरसिंह ने बताया कि लोहे के सरिए से को टेढ़ा कर हेकड़ी बनायीं गयी  ट्यूबवेल के अंदर डाला। यह सरिया बच्ची के कपड़ों में फंसाया। इसकी मदद से बच्ची को ऊपर निकाल लिया गया। इसके बाद बच्ची को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। एसडीएम गोविंद दुबे ने इसकी पुष्टि की है। बच्ची के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *