प्रदेश में बाढ़ से हालात बेकाबू : श्योपुर, शिवपुरी, भिंड, मुरैना, दतिया, गुना और ग्वालियर के 1225 गांवों से 5800 लोगों को रेस्क्यू किया

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा- संकट बड़ा है, सेना की मदद ले रहे

ब्रह्मास्त्र ग्वालियर/चंबल। मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल अंचल में बाढ़ से हालात बेकाबू हो गए हैं। अभी तक 7 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है, 25 लोग लापता हैं। जिनकी तलाश रेस्क्यू टीम कर रही हैं। श्योपुर, शिवपुरी, भिंड, मुरैना, दतिया, गुना और ग्वालियर में नदियों के किनारे बसे 1225 गांवों से 5800 लोगों को रेस्क्यू किया। दतिया में बड़ी आबादी वाले कस्बे सेंवढ़ा को बाढ़ के खतरे के कारण खाली करा लिया गया है। शिवपुरी के 100 से ज्यादा गांव खाली करवाए गए हैं। मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया का कहना है कि करीब 2 हजार लोग शिवपुरी में फंसे हुए हैं। पूरे अंचल में बाढ़ का केन्द्र शिवपुरी बना हुआ है।
इसके अलावा ग्वालियर-चंबल अंचल में 2000 से ज्यादा लोग प्रशासन से मदद की आस लगाए बैठे हैं। मंगलवार रात से ही सेना के 4 अलग-अलग दलों ने मोर्चा संभाल लिया है। उट ने भी कहा है कि संकट बहुत बड़ा है और सेना की मदद ले रहे हैं। बता दें मुख्यमंत्री आज 11 बजे चंबल क्षेत्र का हवाई सर्वे भी करेंगे। बुधवार 11 बजे उट शिवराज सिंह भोपाल से ग्वालियर पहुंच रहे हैं। यहां ग्वालियर एयरपोर्ट से हेलिकॉप्टर से वह श्योपुर-शिवपुरी में एरियल सर्वे करेंगे। खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो बार मुख्यमंत्री से चर्चा का हालात पर बात कर चुके हैं। आधी रात तक मुख्यमंत्री अफसरों से हालात पर बैठक की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *