मप्र में बारिश से हुए हादसों में छह की गई जान

ॅ रीवा में सोते परिवार पर गिरी दीवार
ॅ 4 की मौत, 2 की हालत गंभीर
ॅ सिंगरौली में भी 2 भाइयों ने दम तोड़ा
ब्रह्मास्त्र  रीवा/सिंगरौली।
मध्य प्रदेश के विंध्य में लगातार बारिश से हालात बिगड़ने लगे हैं। रीवा-सिंगरौली में 12 घंटे में दो बड़े हादसों में 6 की मौत हो गई, जबकि 5 लोग गंभीर हैं। रीवा में कच्चे मकान की दीवार सो रहे परिवार पर गिर गई। मलबे में दबकर 4 लोगों की जान चली गई। मृतकों में मां-बेटा और दो बहनें शामिल हैं। परिवार के दो सदस्य गंभीर हैं। वहीं, सिंगरौली में कंपनी की दीवार झुग्गी पर गिर गई। इस घटना में 2 भाइयों की मौत हो गई, जबकि माता-पिता समेत 3 लोग घायल हो गए। परिवार झारखंड से मजदूरी करने आया था। विंध्य क्षेत्र में 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। पहला हादसा शनिवार-रविवार रात 2 बजे सिंगरौली के विन्ध्यनगर थाना क्षेत्र की जयंत चौकी इलाके में हुआ। चौकी प्रभारी अभिमन्यु द्विवेदी ने बताया कि सामन्ता कंपनी की दीवार गिर गई।
दीवार के मलबे के चपेट में मजदूर भोला मुंडा (32) निवासी झारखंड की झुग्गी आ गई। भोला के दो बच्चे नीरज मुंडा (10) और सनिका मुंडा (2) की मौके पर मौत हो गई। वहीं, भोला की बेटी रागिणी मुंडा (7) गंभीर रूप से घायल हुई है। हादसे में भोला और उसकी पत्नी विनीता (28) भी घायल है। बच्ची को नेहरू अस्पताल के वेंटिलेटर पर रखवाया गया है।
रीवा में शवों को निकालने में लग गए घंटों
एक सप्ताह से चल रही रिमझिम बारिश ने शनिवार-रविवार की रात कहर बरपाया है। गढ़ थाना क्षेत्र के बहेरा घुचियारी गांव में कच्चा मकान ढहने से चार लोगों की मौत हो गई है। मनोज पांडेय (35), उनकी मां कमेली पांडेय (60), दो बेटियां काजल (8) और आंचल पांडे (7) की मौत हो गई। मलबे में दबे दो लोगों को गंभीर हालात में बाहर निकाल लिया गया है। गांव में सड़क नहीं है। इसलिए रेस्क्यू टीम घटना के बाद मौके पर समय से नहीं पहुंच पाई। इसकी वजह से घंटों लोग मलबे में फंसे रहे और उनकी मौत हो गई। गांव वालों ने खुदाली फावड़ा से मलबे को हटाया। सुबह 10 बजे शव निकाले गए। मृतकों की पुष्टि कलेक्टर इलैया राजा टी ने की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *