सिंहस्थ क्षेत्र की जमीन किसी को भी न दें

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि जी ने दिया बड़ा बयान

मुख्यमंत्री से की मांग, प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को भी लिख रहे हैं पत्र

सिंहस्थ की जमीन हड़पने की कोशिश कर रहे भूमाफियाओं में हड़कंप

उज्जैन। मास्टर प्लान 2035 को लेकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि जी ने बड़ा बयान दिया है। ग्राम सांवराखेड़ी एवं शांति पैलेस बायपास मार्ग को सिंहस्थ क्षेत्र घोषित करने और प्रशासन द्वारा प्रस्तावित प्लान पर रोक लगाने की उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की है।
उन्होंने कहा कि उज्जैन से ऐसी खबर आ रही हैैं कि कुछ लोग जिसमें राजनेता भी शामिल हैं, मेला क्षेत्र की जमीन अधिग्रहण करके वहां बड़े-बड़े भवन बनाने का प्रयास किया जा रहा है। सावराखेड़ी जहां मेला क्षेत्र है वहां पार्किंग क्षेत्र में प्लाट काटने के लिए मुख्यमंत्री से अनुमति मांगी गई है, लेकिन मैंने मुख्यमंत्री से निवेदन किया था कि इस पर कतई निर्णय न लिया जाए।
मेला क्षेत्र की जमीन बढ़ाई जाए न कि घटाई जाए । मैं मुख्यमंत्री के संज्ञान में भी यह बात लाया हूं।
मैं एक पत्र प्रधानमंत्री और एक पत्र गृह मंत्री को भी लिखने जा रहा हूं कि उज्जैन मेले की जमीन सुरक्षित रहे, ताकि मेला अच्छे से संपन्न हो। वर्ष 2028 में फिर सिंहस्थ का मेला है। पिछले सिंहस्थ में जितनी संख्या थी उससे अधिक संख्या इस बार कुंभ के मेले में रहेगी। अब जब जमीन ही नहीं रहेगी तो मेला कैसे भराएगा। हमारा अनुरोध है कि सिंहस्थ मेला में अभी जितनी जमीन है , उतनी जमीन सुरक्षित रहे बल्कि और अधिक जमीन बढ़ाएं ताकि मेला व्यवस्थित संपन्न हो सके।
सिंहस्थ की जमीन किसी को भी न दें। कोई उज्जैन के सौंदर्यीकरण के नाम पर जमीन मांग रहा है, कोई विकास के नाम पर मांग रहा है तो कोई चाह रहा है कि हम प्लाट काटकर बड़े-बड़े भवन बनाएंगे, गरीबों को देंगे। मेरा मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है कि वह इस पर गंभीरता से विचार करें। सिंहस्थ की जमीन किसी को भी ना दें।
बहरहाल , नरेंद्र गिरी जी के इस बड़े बयान के बाद सिंहस्थ की जमीन हड़पने की कोशिश कर रहे भूमाफियाओं में हड़कंप मच गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *