पांव फिसलने से चिड़िया भड़क में डूबे इंदौर के दो बच्चे, दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने गए थे

सुरक्षा के इंतजाम नहीं होना बड़ी चूक

इंदौर। अपने दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने बड़वाड के नजदीक चिड़िया भड़क वाटरफॉल गए कुलकर्णी भट्टा क्षेत्र के दो बच्चों की पांव फिसल कर गहरे पानी में जाने के कारण मौत हो गई। इनके एक साथी को वहां मौजूद लोगों ने जैसे-तैसे बचाया। आश्चर्यजनक है कि कोरोना काल में अभी पर्यटन आदि पर प्रतिबंध लगा हुआ है। जितने भी इस तरह के खतरनाक वाटरफॉल या पर्यटन स्थल हैं, वहां पर पुलिस बंदोबस्त भी रहता है। इंदौर से गए युवक चिड़िया भड़क तक पहुंच गए और पानी में डूब कर उनकी मौत भी हो गई और उन्हें तुरंत मदद भी नहीं मिल सकी। इसका अर्थ यही हुआ कि वाटरफॉल पर सुरक्षा के कोई प्रबंध प्रशासन द्वारा किए नहीं थे।
घटना शनिवार शाम 5:30 बजे की है। कुलकर्णी भट्टा क्षेत्र के दीपक, नितिन और गणेश अपने तीन अन्य साथियों के साथ दो बाइक पर पिकनिक मनाने चिड़िया भड़क गए थे। जब यह लोग पानी में नहा रहे थे तभी नितिन का पांव फिसला और वह गहरे पानी में चला गया उसे बचाने के चक्कर में दीपक भी गहरे पानी में चला गया इन दोनों को डूबता देख गणेश भी गहरे पानी में जाने लगा लेकिन जैसे ही उसके कदम डगमगाए वहां मौजूद लोगों ने उसे खींच कर बाहर निकाल लिया।
दीपक और नितिन की मौके पर ही मौत हो गई। ‌ गौरतलब है कि इसी स्थान पर 4 जुलाई को इंदौर के पटवारी शहजाद खान की गहरे पानी में डूबने से मौत हो गई थी। ‌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *