सीएमएचओ का निजी क्लिनिक पर इलाज करने का वीडियो वायरल , ड्यूटी टाइम में मरीजों का इलाज करते हुए दिखाई दिए

सीएमएचओ का निजी क्लिनिक पर इलाज करने का वीडियो वायरल , ड्यूटी टाइम में मरीजों का इलाज करते हुए दिखाई दिए सीएमएचओ

कांग्रेस का आरोप पद हटाए जाए मुख्य चिकत्सा अधिकारी
युवा उज्जैन की टीम ने बनाया वीडियो

उज्जैन। कोरोना माहमारी ने उज्जैन सहित कई शहरो में विकराल रूप लिया जिसके कारण कई लोगो ने अपनों को खोया और अभी भी कई लोग अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे है. इस आपदा के दौर में ना सिर्फ निजी क्लनिक संचालित करने वाले डॉ बल्कि सरकारी अस्पतालों के डाक्टर सबसे अहम् ड्यूटी निभा रहे। सरकारी अस्पताल मरीजों से भरे पड़े है। अस्पतालों में जगह नहीं है स्वास्थ्य अमला दिन रात मरीजों की सेवा में लगा हुआ है। लगातार हो रही मौत के बिच उज्जैन के सीएमएचओ डॉ महावीर खंडेलवाल का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमे वो अपने फ्रीगंज स्थित क्षेत्र में संचालित होने वाले निजी क्लिनिक पर मरीजों का इलाज करते हुए दिखाई दे रहे है। वीडियो में ये भी साफ नजर आरहा है की सीएमएचओ डॉ खंडेलवाल के क्लिनिक के बाहर मरीजों की भीड़ लगी हुई है। डॉ महावीर खंडेलवाल का वीडियो वायरल होते ही स्वास्थ्य अमले में हड़कंप मच गया। जिसके बाद से ही सीएमएचओ से सम्पर्क करना चाहा तो उन्होंने अपने आप को महिदपुर में होने की जानकारी देकर फोन बंद कर दिया।

सीएमएचओ ने 28 अप्रेल को ही आदेश निकला।

उज्जैन सीएमएचओ महावीर खंडेलवाल ने 28 अप्रेल को उज्जैन , तराना , महिदपुर बड़नगर ,नागदा , खाचरोद , सहित अन्य जगह के मेडिकल ऑफिसर और ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर के नाम पर नोटिस जारी किय था जिसमे साफ कहा गया था कोविड 19 जैसी भयंकर बिमारी उज्जैन जिले में लगातार बढ़ती जा रही है। इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग को जरुरी सेवा में लिया गया है। उक्त संबध में कुछ चिकत्सक शासकीय चिकत्सालय में ना रहते हुए नहीं रहते हुए प्रायवेट प्रेक्टिस पर चले जाते है। यदि ऐसा करते कोई भी चिकत्सक पाया जाता है तो उनके विरुद्ध आपदा प्रबंधन 25 की धारा 56 तथा आईपीसी की धारा 188 में कठोर अनुशात्मक / दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी। लेकिन युवा उज्जैन की टीम द्वारा बनाया गया इस वीडियो को देखे तो वीडियो में डॉ खंडेलवाल के क्लिनिक पर दिवार पर लगी एक घडी भी दिखाई दे रही है जिसमे लगभग दोपहर 1 बजकर 50 मिनिट का समय हो रहा है और इस वक़्त तो सीएमएचओ को अपनी सरकारी नौकरी में होना चाहिए था।

पद से हटाने की मांग
महामारी के इस दौर में मुख्य चिकत्सा अधिकारी पर जिले का भार है वैसे ही कोरोना को लेकर स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई हुई है और ऐसे में सीएमएचओ का सरकारी समय में निजी क्लिनिक पर मरीजों के इलाज करने का वीडियो वायरल होने के बाद विवाद खड़ा हो गया है और अब कांग्रेस विधायक महेश परमार ने सीएमएचओ खंडेलवाल को पद से हटाने की मांग की है वंही केबिनेट मंत्री मोहन यादव ने कहा की इस मामले की जानकरी आयी है जल्द ही अधिकारियो से बात करूंगा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *