आम श्रद्धालुओं के साथ पंडितों को पुलिस ने खदेड़ा

उज्जैन।महाकाल की नगरी में पंडितों और श्रद्धालुओं ने सख्त व्यवहार किया। पिंडदान और पूजन करने वाले पंडितों के साथ ही श्रद्धालुओं को पुलिस ने खदेड़ दिया। इसके बाद पंडे-पुजारियों ने विरोध में एक ज्ञापन सौंपा। इस दौरान यह भी बताया गया कि भोपाल के एक अफसर के परिजन का पूजन पुलिस ने खड़े रहकर करवाया था तो फिर हमारे साथ भेदभाव क्यों किया जा रहा है।उज्जैन में कोरोना महामारी के बीच लगातार शिप्रा नदी किनारे रामघाट पर पिंडदान और अन्य पूजन पाठ करने आ रहे श्रद्धालुओं पर उज्जैन कलेक्टर ने पूर्णतः प्रतिबन्ध लगा दिया था। वहीं कुछ पंडे जब चोरी छिपे पूजन करने लगे तो पुलिस प्रशासन सख्ती बरती। एक वीडियो भी वायरल हुआ, जिसमे सीएसपी पल्लवी शुक्ला महाकाल थाने के बल के साथ राम घाट पर पहुंची और पंडित सहित पूजन पर बैठे लोगों को खदेड़ना शुरू कर दिया। इसमें आगे आगे महिला और पुरुष जजमान और पीछे पुलिस नजर आ रही है। इस तरह का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस की काफी किरकिरी हो रही है। अब पंडे पुजारियों ने मिलकर सीएम शिवराज सिंह, धर्मस्व मंत्री उषा ठाकुर और उज्जैन सांसद अनिल फिरोजिया को प्रशासन के इस रवैये से अवगत कराते हुए एक ज्ञापन दिया है। साथ ही मांग की है कि सभी पंडितों को पूजन कराने की अनुमति दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *